अगरतला के होटल में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की आई-पैक टीम को पुलिस ने लिया हिरासत में

टीम तृणमूल कांग्रेस राज्य में 2023 में होने वाले वधानसभा चुनाव में राजनीतिक स्थिति और टीएमसी की संभावना का आकलन कर रही है.

अगरतला के होटल में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की आई-पैक टीम को पुलिस ने लिया हिरासत में
प्रशांत किशोर

अगरतलाः चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की इंडियन पॉलिटिकल ऐक्शन कमेटी (आई-पैक) की एक टीम को स्थानीय पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया था. टीम पिछले एक सप्ताह से एक होटल में डेरा डाले हुई थी. आई-पैक की यह टीम राज्य की सियासी हालात और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लिए सूबे में हिमायत का अंदाजा लगा रही है. 23 सदस्यों वाली आई-पैक टीम एक सप्ताह पहले राज्य में पहुंची थी और ’ग्राउंड जीरो’ पर सर्वे करने के लिए कई मकामात का दौरा भी किया है. टीम न केवल तृणमूल कांग्रेस के साथ बल्कि अन्य दलों के साथ भी चर्चा की और टीम 2023 में अगले विधानसभा चुनाव में राजनीतिक स्थिति और टीएमसी की संभावना का आकलन कर रही है. 

तृणमूल कांग्रेस ने इसे लोकतंत्र पर हमला करार दिया
तृणमूल कांग्रेस की त्रिपुरा इकाई के अध्यक्ष आशीष लाल सिंह ने हालांकि इसे लोकतंत्र पर हमला करार दिया. सिंह ने कहा, “यह लोकतंत्र पर हमला है. त्रिपुरा का निवासी होने के कारण मैं स्तब्ध हूं. यह त्रिपुरा की संस्कृति नहीं है. त्रिपुरा में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के कुशासन के कारण टीएमसी को मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया और समर्थन से भाजपा घबरा गई है. आई-पैक की टीम इतवार की रात से एक होटल में नजरबंद है. 

पुलिस ने कहा, यह नियमित प्रक्रिया का हिस्सा है
पश्चिम त्रिपुरा के पुलिस अधीक्षक माणिक दास ने दावा किया कि नियमित जांच के तहत अगरतला शहर स्थित होटल में 22 सदस्यीय आई-पैक टीम के सदस्यों से पूछताछ की जा रही है. दास ने कहा कि लगभग 22 बाहरी लोग मुखतलिफ जगहों पर घूम रहे थे. चूंकि कोविड प्रतिबंध लागू है, इसलिए हम उनके शहर में आने और ठहरने की वजहों की तस्दीक करने के लिए पूछताछ कर रहे हैं. उन सभी की सोमवार को कोविड की जांच की गई, रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है.” जिला पुलिस प्रमुख ने सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों से इनकार किया है कि आई-पैक टीम को हिरासत में लिया गया है और कहा कि यह एक नियमित प्रक्रिया है.

Zee Salaam Live Tv