59 चाइनीज़ एप पर पाबंदी को रविशंकर प्रसाद ने बताया चीन पर डिजिटल स्ट्राइक

वज़ीरे कानून के इस बयान के बाद चीन ने अपने तबसिरे में कहा है कि हिंदुस्तान को चीन की कंपनियों के खिलाफ इम्तियादडी सलूक छोड़ना चाहिए

59 चाइनीज़ एप पर पाबंदी को रविशंकर प्रसाद ने बताया चीन पर डिजिटल स्ट्राइक
फाइल फोटो

नई दिल्ली: मरकज़ी वज़ीरे कानून रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने हिंदुस्तानी हुकूमत के ज़रिए बैन की गईं चीन की 59 एप्स के कदम को चीन पर डिजिटल स्ट्राइक बताया है. उन्होंने ने कहा है कि हिंदुस्तान ने चीन पर डिजिटल स्ट्राइक की है. उनके इस बयान के चीन ने तबसिरा दिया है. जिसमें उन्होंने हिंदुस्तान पर चीनी कंपनियों के साथ इम्तियाज़ी सलूक का इल्ज़ाम लगाया है. 

मरकज़ी वज़ीर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि हमने मुल्क के लोगों के डेटा की सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए चीन के ऐप्स पर पाबंदी लगायी है. उन्होंने आगे कहा,"हिंदुस्तान अमन चाहता है कि लेकिन अगर कोई आंख दिखाएगा तो उसे करारा जवाब देना भी हिंदुस्तान को आता है." बता दें कि यह पहला मौका है जब किसी मरकज़ी वज़ीर ने चाइनीज़ ऐप्स पर की गई कार्रवाई को डिजिटल स्ट्राइक का नाम दिया है.

वज़ीरे कानून के इस बयान के बाद चीन ने अपने तबसिरे में कहा है कि हिंदुस्तान को चीन की कंपनियों के खिलाफ इम्तियादडी सलूक छोड़ना चाहिए.

बता दें कि हिंदुस्तान ने चीन की TikTok समेत 59 एप्स पर पाबंदी लगा दी है. चीन के साथ सरहदी कशीदगी के करीब दो महीने बाद हिंदुस्तान ने ये सख्त कदम उठाया है. हुकूमत ने चीन के मोबाइल ऐप को मुल्क की बाहरी और अंदरूनी सिक्योरिटी के लिए बड़ा खतरा बताते हुए ये फैसला लिया.

Zee Salaam Live TV