कुछ इस तरह रातों-रात नगरपालिका का चेयरमैन बन गया सब्जी बेचने वाला शेख बाशा

जानकारी के मुताबिक खुद मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी के द्वारा यह शख्स चुनाव लड़ने के लिए चुने जाने के बाद बाशा की जिंदगी में यह नया मोड़ आया है.

कुछ इस तरह रातों-रात नगरपालिका का चेयरमैन बन गया सब्जी बेचने वाला शेख बाशा

नई दिल्ली: पढ़ा लिखा होने के बावजूद बेरोजगारी की वजह से गांव में सब्जी बेच कर अपना गुजर बसर कर रहे एक शख्स की किस्मत तब अचानक बदल गई जब उसे नगर पालिका का अध्यक्ष बना दिया गया. आंध्र प्रदेश की सत्ता पर काबिज वाईएसआर कांग्रेस ने गुरुवार को सब्जी बेचने वाले शेख बाशा को रायेचोटी (Rayachoty) नगर पालिका का अध्यक्ष बना दिया. 

यह भी पढ़ें: होली पर घर जाने के लिए ना हों परेशान, Indian Railway ने चलाई ये स्पेशल ट्रेनें

जानकारी के मुताबिक खुद मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी के द्वारा यह शख्स चुनाव लड़ने के लिए चुने जाने के बाद बाशा की जिंदगी में यह नया मोड़ आया है. शेख बाशा का कहना है कि डिग्रियां होने के बावजूद बेरोजगारी की वजह से मुझे सब्जियां बेचकर घर चलाना पड़ता था. मेरी जिंदगी में कोई दिशा नहीं थी लेकिन वाईएसआई कांग्रेस ने मुझे पहले काउंसलर का चुनाव लड़ने का मौका दिया और अब नगर पालिका का अध्यक्ष बना दिया. 

यह भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ भारत की वनडे टीम का ऐलान, मोहम्मद सिराज को भी मिला मौका

शेख बाशा का कहना है कि मैं मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने मेरी जिंदगी को यह यू टर्न दिया. बता दें कि वाईएसआई कांग्रेस ने राज्य की 86 नगर पालिका और नगर निगमों में से 84 पर कब्जा किया हुआ है. इसकी काबिले तारीफ बात यह है कि पार्टी ने महिलाओं को 60.47 फीसद और पिछड़े समुदायों को 78 फीद पद दिए हैं. 

ZEE SALAAM LIVE TV