भड़काऊ तकरीर पर एक्शन में आई STF, डॉ कफील को किया गिरफ्तार

एसटीफ ने डॉ कफील को अपनी गिरफ्त में ले लिया है उन पर मुतनाज़ा बयानबाजी का इल्ज़ाम है      

भड़काऊ तकरीर पर एक्शन में आई STF, डॉ कफील को किया गिरफ्तार

मुंबई : अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में 12 दिसंबर 2019 को भड़काऊ तकरीर देने के मामले में मुजरिम बनाए गए डॉ. कफील को यूपी STF ने बुध की देर रात मुंबई से गिरफ्तार कर लिया है।डॉ कफील के खिलाफ अलीगढ़ के सिविल लाइन्स थाने में मकामी पुलिस ने FIR दर्ज कराई थी, जिसमें उन पर सीएए की मुखालिफत करने के दौरान भड़काऊ तकरीर और मज़हबी एहसासात भड़काने का इल्ज़ाम लगाया है। इससे पहले भी कफील खान को 2017 में बीआरडी (BRD) कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले में सस्पेंड कर दिया गया था।

क्या है कफील पर आरोप
दरअसल 12 दिसंबर 2019 की शाम करीब 6.30 बजे डॉ. कफील ने एएमयू में करीब 600 छात्रों की भीड़ को खिताब किया था. इस दौरान उसने अपनी तकरीर में मुस्लिम तलबा को उनकी मज़हबी जज़्बात को भड़काने और दूसरे मज़हब को लेकर नफ़रत पैदा करने की कोशिश की थी. उन्होंने अपने खिताब में वज़ीरे दाखिला अमित शाह पर भी बयानबाजी की थी। डॉ कफील की तकरीर को मकामी पुलिस ने रिकार्ड भी किया था.
कफील ने क्या कहा था

डॉ कफील खान ने अपनी तकरीर में कहा था, 'यह लड़ाई हमारे वजूद की लड़ाई है। हमें लड़ना होगा।' डॉ कफील ने यह भी कहा कि आरएसएस (RSS) के स्कूलों में बच्चों को बताया जाता है कि दाढ़ी रखने वाले लोग दहशतगर्द होते हैं।हुकूमत पर इल्ज़ाम लगाते हुए कहा कि CAA लाकर हुकूमत यह दिखाना चाहती है कि मुल्क एक सेक्युलर मुल्क नहीं है। हुकूमत यहां की आपसी इत्तेहाद को खराब कर रही है। एफआईआर (FIR) में लिखा गया कि डॉ खान ने अमन के माहौल को भंग करने की कोशिश की।

 

मुबंई से अलीगढ़ लाया जाएगा कफील
आईजी एसटीएफ अमिताभ ने बताया की मूबंई एयरपोर्ट से कफील की गिरफ्तारी की गई है.जहां से कफील को अलीगढ़ लाया जाएगा और कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड में लिया जाएगा..वही हूकूमत की तरफ से ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है जो मुल्क का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे है..