AAP नेता ने कहा, "सांसद क्या सदन में अपना बंगला या प्लाॅट मांगने के लिए हंगामा करते हैं ?"
X

AAP नेता ने कहा, "सांसद क्या सदन में अपना बंगला या प्लाॅट मांगने के लिए हंगामा करते हैं ?"

आम आदमी पार्टी के नेता (Aam Admi Party Leader ) और राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Rajya Sabha MP Sanjay Singh ) ने जी सलाम पर दिए इंटरव्यू में मौजूदा सियासी सगर्मियों को लेकर जी सलाम के संपादक इरफ़ान शेख के पूछे गए तमाम सवालों का बड़े बेबाकी के साथ जवाब दिया. हाल ही में संसद से 12 सांसदों के निलंबन पर उन्होंने कहा कि आप सब कुछ बेच देंगे तो हम वहां चुपचाप बैठकर बर्दाश्त करने के लिए गए हैं?  

 

AAP नेता ने कहा,

नई दिल्लीः हाल ही में संसद से संस्पेड किए गिए 12 सांसदों (Suspension of 12 MPs) से जुड़े एक सवाल के जवाब में आम आदमी पार्टी के (Aam Admi Party) राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Rajya Sabha MP Sanjay Singh) ने कहा कि हमें पहले समझना होगा कि संसद बनी किस लिए है? संसद इस देश के लोकतंत्र की सबसे बड़ी पंचायत है और वहां पर हम जनता के बुनियादी मुद्दों को उठाने के लिए. कई बार हमारे ऊपर सवाल उठाया जाता है कि हम हंगामा करते हैं, सदन की कार्रवाई बाधित करते हैं. तो क्या हम अपने बंगला बनाने के लिए सदन की कार्रवाई बाधित करते हैं? या मुझे सरकार से कोई जमीन, प्लाट चाहिए जिस वजह से मैं संसद की कार्रवाई बाधित करता हूं?

 

सदन को चलाने की जिम्मेदारी सरकार की है 
संजय सिंह ने कहा कि अगर आप किसान के खिलाफ कोई बिल पार्लियामेंट में लेकर आएंगे तो मैं सबसे पहले अपन सीट से खड़ा होकर कहूंगा कि इस बिल को मत लाइए. सरकार मान जाती है तो फिर चर्चा आगे बढ़ती है, नहीं तो विरोध और बढ़ जाता है. सदन को चलाने की जिम्मेदारी सरकार के ऊपर होती है. यह मैं नहीं कह रहा हूं यह बयान है आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी का. जब वो देश के प्रधानमंत्री थे तो उन्होंने कहा था कि देश की संसंद को चलाना बहुमत के हाथ में है. अगर हमने कभी अपने व्यक्तिगत इंट्रेस्ट के लिए सदन को बाधित किया तो मैं दोषी हूं. 

हम संसद में  चुपचाप बैठकर बर्दाश्त करने के लिए गए हैं ? 
संजय सिंह ने कहा कि आप जब चाहते हैं सांसदों को निलंबित कर देते हैं, जब चाहते हैं मार्शल से घसीटकर बाहर कर देते हैं और बाहर पिक्चर बनाते हैं कि देखो साबह हम लोग तो सच्चे हैं, ये लोग सदन नहीं चले दे रहे. लेकिन जब आप रेल बेचेंगे, सेल बेचेंगे, कोल बेचेंगे, बीपीसीएल बेचेंगे, सड़क, बिजली, पानी, एलआईसी, बैंक सब कुछ बेच देंगे तो हम वहां चुपचाप बैठकर बर्दाश्त करने के लिए गए हैं? इसलिए 12 सांसदों के निलंबल की कार्रवाई संसंदीय परंपराओं के विपरीत है. संसंदीय नियमों के खिलाफ है. पूरी तरीके से गलत है.

Zee Salaam Live Tv

Trending news