West Bengal Election: किसके सिर सजेगा नंदीग्राम का ताज, देखिए सीट का क्या है समीकरण

पश्चिम बंगाल समेत देश के 5 राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में पड़े वोटों की गितनी की शुरू हो गई है. शाम तक नतीजों का ऐलान हो जाएगा. यूं तो सभी राज्यों के चुनाव अहम हैं लेकिन सभी निगाहें पश्चिम बंगाल पर टिकी हुई हैं. बंगाल में भी सबसे हॉट सीट नंदीग्राम पर.

West Bengal Election: किसके सिर सजेगा नंदीग्राम का ताज, देखिए सीट का क्या है समीकरण
फाइल फोटो

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल समेत देश के 5 राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में पड़े वोटों की गितनी की शुरू हो गई है. शाम तक नतीजों का ऐलान हो जाएगा. यूं तो सभी राज्यों के चुनाव अहम हैं लेकिन सभी निगाहें पश्चिम बंगाल पर टिकी हुई हैं. बंगाल में भी सबसे हॉट सीट नंदीग्राम पर. जहां राज्य की मौजूदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल हुए सुवेंदु अधिकारी आमने सामने हैं. 

नंदीग्राम में 1 अप्रैल को वोटिंग हुई थी. जिसमें करीब 88 फीसदी लोगों ने वोट डाले थे. यह वोट फीसद पिछले यानी साल 2016 के चुनाव से 1 फीसद ज्यादा है. पिछली बार ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी से सुवेंदु अधिकारी ने इस सीट पर जीत हासिल की थी. लेकिन इस बार सुवेंदु ममता बनर्जी के ही खिलाफ इस सीट पर खड़े हैं. चुनावी सभाओं के दौरान दोनों ही नेताओं ने एक दूसरे खूब आरोप प्रत्यारोप भी लगाए थे. 

यह भी देखिए: Election Result Live: यहां देखिए पांचों राज्यों में क्या है अभी चुनावी सूरतेहाल, वोटों की गिनती हुई शुरू

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान करते हुए कहा था 'क्या होगा अगर मैं नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ूं यह कैसा रहेगा?..', नंदीग्राम मेरे दिल के करीब है. मैं अपना नाम भूल सकती हूं लेकिन नंदीग्राम को नहीं. आज मैं ऐलान कर रही हूं कि मैं नंदीग्राम से लड़ना चाहती हूं.'

सीएम बनर्जी के इस ऐलान के अगले ही दिन सुवेंदु अधिकारी ने भी बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि पश्चिम बंगाल की सीएम 50 हजार वोटों से हारेंगी या वे राजनीति छोड़ देंगे. बता दें नंदीग्राम सीट पर अधिकारी परिवार का खासा प्रभाव है. शुभेंदु ममता सरकार में ट्रांसपोर्ट मंत्री रह चुके हैं.

नंदीग्राम सीट का इतिहास
साल 2009 में हुए उपचुनावों के दौरान ममता बनर्जी लेफ्ट से इस सीट को छीना था. उसके बाद लगातार दो बार यानी साल 2011 और 2016 में TMC ने यहां अपना कब्जा बरकरार रखा. साल 2016 के विधानसभा चुनाव में टीएमसी को जिले की 13 विधानसभा सीटों पर जीत मिली थी. तीन सीटें लेफ्ट के हिस्से में गई थीं. इस सीट के तहत 70 फीसद हिंदू और 30 फीसद मुस्लिम वोट आते हैं. कुल वोटर की बात करें तो यहां 2,13,000 वोटर में 1 लाख 51 हजार हिंदू वोटर हैं और 62 हजार मुस्लिम वोटर हैं. 

ZEE SALAAM LIVE TV