UP में कांग्रेस की CM चेहरा होंगी प्रियंका गांधी वाड्रा? सलमान खुर्शीद ने कही ये बड़ी बात

सलमान खुर्शीद (Salman khurshid) ने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को दिए इंट्रव्यू में कहा कि कांग्रेस गठबंधनों के लिए इंतजार नहीं करती रहेगी, बल्कि पूरी ताकत के साथ वह चुनाव लड़ने के लिए तैयार है.

UP में कांग्रेस की CM चेहरा होंगी प्रियंका गांधी वाड्रा? सलमान खुर्शीद ने कही ये बड़ी बात
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कांग्रेस के सीनियर नेता सलमान खुर्शीद ने कहा है कि पार्टी जनरल सेक्रेटरी प्रियंका गांधी वाद्रा (Priyanka Gandhi) यह तय करेंगी कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections) में वह वोटरों के बीच खुद को कैसे पेश करेंगी, लेकिन यह जरूर है कि वह एक 'बेहतरीन चेहरा' हैं और रियासत में पार्टी की 'कप्तान' हैं.

उन्होंने यह उम्मीद भी जताई कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ही भाजपा (BJP) के खिलाफ एक अहम हरीफ़ के किरदार में नज़र आएगी.

सलमान खुर्शीद ने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को दिए इंट्रव्यू में कहा कि कांग्रेस गठबंधनों के लिए इंतजार नहीं करती रहेगी, बल्कि पूरी ताकत के साथ वह चुनाव लड़ने को लेकर पाबंदे अहद है. यह पूछे जाने पर कि क्या वज़ीरे आला के ओहदे के चेहरे के लिए प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ही सबसे बेहतरीन मुतबादिल हैं तो साबिक मरकज़ी वज़ीर ने कहा, 'जब तब वह हमें कोई इशारा नहीं देतीं, तब तक मैं इसका जवाब नहीं दूंगा. लेकिन वह एक अद्भुत, बेहतरीन चेहरा हैं.'

ये भी पढ़ें: यूपी असेम्बली इलेक्शन में होगा भोजपुरी अदाकारों का दंगल, सपा प्रमुख अखिलेश से मिलने पहुंचे यह सुपर स्टार

उन्होंने कहा, 'आप एक तरफ योगी आदित्यनाथ की तस्वीर रखिए और दूसरी तरफ प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) की तस्वीर रखिए. आपको कोई सवाल पूछने की जरूरत नहीं होगी.' खुर्शीद ने इस बात पर जोर दिया कि यह फैसला प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को खुद करना है कि वोटरों के बीच किस तरह से जाना है. उन्होंने कहा, 'मैं उम्मीद करता हूं कि वह फैसला करेंगी और हमें जानकारी देंगी। जहां तक हमारा सवाल है तो वह हमारी कप्तान हैं और हमारा नेतृत्व कर रही हैं.'

किसी पार्टी के साथ गठबंधन के इमकान को लेकर पूछे जाने पर खुर्शीद ने कहा कि उनकी जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस की किसी दल के साथ बातचीत नहीं चल रही है. उनके मुताबिक, अगर पार्टी क़यादत कोई फैसला करती है तो बात अलग है.

ये भी पढ़ें: कुरआन की आयतों पर सवाल उठाने वाले वसीम रिजवी पर ड्राइवर की बीवी ने लगाया आबरूरेजी का इल्जाम

 

गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections 2017) में कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ा था. उस चुनाव में कांग्रेस सिर्फ सात सीटें जीत सकी और सपा को 47 सीटें मिली थीं. सपा के सदर अखिलेश यादव ने हाल ही में एक इंट्रव्यू में कहा था कि उनकी पार्टी आगामी चुनाव में कांग्रेस और बसपा जैसे बड़े दलों के साथ गठबंधन नहीं करेगी.
(इनपुट- भाषा)

Zee Salaam Live TV: