UNGA में इमरान खान ने फिर अलापा कश्मीर राग, भारत ने सुनाई खरी-खरी, कही ये बातें

स्नेहा ने आगे कहा कि दुनियाभर में माना जाता है कि पाकिस्तान आतंकवादियों का खुले तौर पर समर्थन करता है और उन्हें हथियार मुहैया करवाता है. 

UNGA में इमरान खान ने फिर अलापा कश्मीर राग, भारत ने सुनाई खरी-खरी, कही ये बातें

नई दिल्ली: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने एक बार कश्मीर राग अलापते हुए UNGA में कहा है कि पाकिस्तान भारत के साथ अम्न चाहता है. दक्षिण एशिया में शांति जम्मू-कश्मीर विवाद के हल पर निर्भर करती है. खान ने कहा, 'पाकिस्तान के साथ सार्थक जुड़ाव बनाने के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जिम्मेदारी पूरी तरह से भारत पर निर्भर करती है.' पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के इस बयान के बाद संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे (Sneha Dubey) ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के आंतरिक मामलों को दुनिया के मंच पर लाने और झूठ फैलाकर प्रतिष्ठित मंच की छवि खराब करने की कोशिश की है. 

स्नेहा ने आगे कहा कि दुनियाभर में माना जाता है कि पाकिस्तान आतंकवादियों का खुले तौर पर समर्थन करता है और उन्हें हथियार मुहैया करवाता है. साथ ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के ज़रिए प्रतिबंधित आतंकवादियों को रखने का घटिया रिकॉर्ड पाकिस्तान के पास है. स्नेहना बताया कि ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में पनाह मिली. आज भी पाकिस्तानी नेतृत्व उसे 'शहीद' कहकर महिमामंडित करता है. पाकिस्तान आतंकवादियों को इस उम्मीद में पालता है कि वे केवल उसके पड़ोसियों को नुकसान पहुंचाएंगे.

स्नेहा दुबे ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न और अविभाज्य अंग थे, हैं और हमेशा रहेंगे. इसमें वो क्षेत्र भी शामिल हैं जिसपर पाकिस्तान के अवैध कब्जे हैं. हम पाकिस्तान से उसके अवैध कब्जे वाले सभी क्षेत्रों को तुरंत खाली करने का आह्वान करते हैं. हम सुनते आ रहे हैं कि पाकिस्तान ‘‘आतंकवाद का शिकार’’ है. लेकिन यह आग से लड़ने वाले के भेष में आग लगाने वाला देश है. पाकिस्तान के लिए बहुलवाद को समझना बहुत मुश्किल है जो अपने अल्पसंख्यकों को सरकार में उच्च पदों की आकांक्षा रखने से रोकता है.

भारत ने कहा कि पाकिस्तान 'आग लगाने वाला' है जबकि खुद को 'आग बुझाने वाले' के रूप में पेश करने का दिखावा करता है और पूरी दुनिया को उसकी नीतियों के कारण तकलीफ उठानी पड़ी है क्योंकि वह आतंकवादियों को पालता है.

युवा भारतीय राजनयिक ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में एक बार फिर कश्मीर का राग अलापने पर पाकिस्तान की निंदा करते हुए कहा, 'इस तरह के बयान देने वालों और झूठ बोलने वालों की सामूहिक तौर पर निंदा की जानी चाहिए। लगातार झूठ बोलने वाले और ऐसी सोच वाले लोग दया के पात्र हैं। मैं इस मंच से स्पष्ट बात रख रही हूं.'

ZEE SALAAM LIVE TV