अगले साल जनवरी में अपना ओहदा छोड़ सकते हैं रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन

जानकारी के मुताबिक पिछले दिनों एक टीवी फुटेज में पुतिन लड़खड़ाते दिखे थे और उनकी आंखे भी स्थिर नहीं हो पा रही थी.

अगले साल जनवरी में अपना ओहदा छोड़ सकते हैं रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन
फाइल फोटो

मॉस्को: रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन अगले साल अपना ओहदा छोड़ सकते हैं. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक वे पार्किंसंस बीमारी से पीड़ित हैं और उनकी यह बीमारी लगातार बढ़ती जा रही है. 68 साल के पुतिन की गर्लफ्रेंड और पूर्व जिम्नास्ट खिलाड़ी एलिना काबेवा (37) ने उनकी बढ़ती तकलीफ को देखकर उनसे पद छोड़ने की गुज़ारिश की है. 

जानकारी के मुताबिक पिछले दिनों एक टीवी फुटेज में पुतिन लड़खड़ाते दिखे थे और उनकी आंखे भी स्थिर नहीं हो पा रही थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि पुतिन फुटेज में अपनी उंगलियों को चटकाते हुए भी दिखाई दिए जब उन्होंने एक कप को पकड़ा हुआ था. जिसमें मुमकिना दवा थी. पुतिन के ओहदा छोड़ने की चर्चा ऐसे वक्त सामने आई है. जब पिछले हफ्ते पुतिन के सामने एक विधेयक पेश किया है. जिसमें उनके आजीवन सीनेटर बने रहने का प्रोविज़न किया गया है. इस प्रोविज़न के पास होने के बाद पुतिन का जिंदगी भर के लिए रूस के राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता भी साफ हो जाता.

क्या है पार्किंसंस बीमारी
पार्किंसंस बीमारी में दिमाग की पैगाम पहुंचाने वाली कोशिकाओं का शरीर के अंगों से संपर्क धीरे-धीरे टूटने लगता है. जिससे वे अंग दिमाग के ज़रिए दिए भेजे जा रहे पैगामों को ग्रहण नहीं कर पाते और वे अक्षमता का शिकार होने लगते हैं. इस बीमारी से मानव शरीर में कंपकंपी, कठोरता, चलने में परेशानी होना, संतुलन और तालमेल आदि समस्याएं होने लगती हैं. यह बीमारी शुरू में लकवे जैसी लगती है लेकिन बाद में गंभीर रूप धारण ले लेती है.

Zee Salaam LIVE TV