चीन से हिंदुस्तान को खतरा देखते हुए अपने फौजियों की तैनाती करेगा अमेरिका

पोम्पियो ने कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के कामों को देखते हुए, जो हिंदुस्तान और दीगर मुल्कों जैसे वियतनाम, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन्स और जनूबी चीन सागर के लिए खतरा है.

चीन से हिंदुस्तान को खतरा देखते हुए अपने फौजियों की तैनाती करेगा अमेरिका
फाइल फोटो

नई दिल्ली: हिंदुस्तान, इंडोनेशिया, मलेशिया और फिलीपींस को चीन से बढ़ रहे खतरे को देखते हुए अमेरिका दुनिया भर में अपने फौजियों की तैनाती का जायज़ा कर उन्हें इस तरह से तैनात कर रहा है कि वे ज़रूरत पड़ने पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (चीन की फौज) का मुकाबला कर सकें. यह जानकारी अमेरिका के वज़ीरे खारजा माइक पोम्पियो जुमेरात को दी है. 

माइक पोम्पियो ने कहा कि सद्र डोनाल्ड ट्रंप की हिदायत पर फौजियों की तैनाती का जायज़ा किया जा रहा है और इसी मंसूबे के तहत अमेरिका, जर्मनी में अपने फौजियों की तादाद करीब 52 हजार से घंटा कर 25 हज़ार कर रहा है.

पोम्पियो ने कहा कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के कामों को देखते हुए, जो हिंदुस्तान और दीगर मुल्कों जैसे वियतनाम, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन्स और जनूबी चीन सागर के लिए खतरा है.

पोम्पिओ ने कहा, 'हम यकीनी करेंगे कि हमारी तैनाती ऐसी हो कि पीएलए का मुकाबला किया जा सके. हमें लगता है कि यह हमारे वक्त की यह चुनौती है और हम यकीनी करेंगे कि हमारे पास उससे निपटने के लिए सभी वसायल मुनासिब जगह पर दस्तेयाब हों.' 

Zee Salaam Live TV