बिहार को विशेष राज्य का दर्जा केंद्र सरकार से क्यों नहीं दिलवाते नीतीश :लालू

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर प्रहार करते हुए कहा कि 'नीतीश कुमार 'रीढ़विहीन' मुख्यमंत्री हैं.

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा केंद्र सरकार से क्यों नहीं दिलवाते नीतीश :लालू
लालू ने ट्वीट में पूछा, बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नीतीश नहीं दिलाना चाहते या फिर बीजेपी नहीं चाहती. (फाइल फोटो)

पटना: राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर प्रहार करते हुए कहा कि 'नीतीश कुमार 'रीढ़विहीन' मुख्यमंत्री हैं.' उन्होंने ट्विटर हैंडल के माध्यम से कहा कि आखिर नीतीश अपने बॉस को बोल कर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं दिलवाते. उन्होंने कहा कि नीतीश केंद्र सरकार पर दबाव क्यों नहीं बनाते ताकि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिल जाए. चारा घोटाला से जुड़े एक मामले में जेल में बंद लालू ने कहा कि केंद्र और बिहार में राजग की सरकारें हैं, फिर भी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं मिल रहा. उन्होंने ट्वीट में पूछा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नीतीश नहीं दिलाना चाहते या फिर बीजेपी नहीं चाहती.

 

जनता को बताओ, क्यों नहीं मिल रहा विशेष राज्य का दर्जा- लालू
लालू ने कहा कि छुपन-छुपाई छोड़ बिहार की जनता को स्पष्ट बताओ, किस वजह और किसकी वजह से विशेष राज्य का दर्जा नही मिल रहा है. उन्होंने कहा कि नीतीश बिहार की जनता को बताएं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशेष पैकेज के नाम पर 1 लाख 65 हज़ार करोड़ रुपये की बिहार की 'बोली' लगाई थी, उसमें से कितनी चवन्नी मिली. ढेला नहीं मिला ढेला.. हिम्मत है तो बताओ. कितना मिला. कब तक गुमराह करोगे.

 

ये भी पढ़ें : बिहार में सिंचाई कार्य योजना पर खर्च किए जाऐंगे 952.28 करोड़

तेजस्वी यादव ने दी गठबंधन तोड़ने की सलाह
लालू के छोटे पुत्र और बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने ट्वीट के जरिए कहा कि अगर प्रधानमंत्री मोदी जी और केंद्र सरकार बिहार की विशेष दर्जे की जायज मांग को अस्वीकार करते हैं, तो नीतीश जी को अंतरात्मा की आवाज पर तुरंत इस्तीफा देकर राजग से गठबंधन तोड़ना चाहिए. कुछ तो हिम्मत दिखाइए चाचा जी. हम इस मांग पर साथ हैं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को आंधप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू से सबक लेना चाहिए.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close