यें हैं CM शिवराज के साले संजय मसानी, कल तक थे कांग्रेस के निशाने पर अब बने दुलारे

कांग्रेस में शामिल होते वक्त शिवराज सिंह चौहान के सगे साले संजय सिंह मसानी नेे कहा था कि मध्य प्रदेश को शिवराज सिंह चौहान की नहीं, बल्कि मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की जरूरत है. 

यें हैं CM शिवराज के साले संजय मसानी, कल तक थे कांग्रेस के निशाने पर अब बने दुलारे
बालाघाट जिले के वारासिवनी इलाके में शिवराज सिंह चौहान के साले संजय मसानी की खासी लोकप्रियता मानी जाती है, हालांकि ये नहीं कहा सकता है कि यह उनके फिल्मों में काम करने की चलते है या उनकी राजनीति की वजह से है.

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री एवं बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान के सगे साले संजय सिंह मसानी कांग्रेस के टिकट पर बालाघाट जिले की वारासिवनी विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे. मसानी तीन नवंबर को बीजेपी छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हुए. कांग्रेस में शामिल होते वक्त उन्होंने कहा था कि मध्य प्रदेश को शिवराज सिंह चौहान की नहीं, बल्कि मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की जरूरत है. मसानी महाराष्ट्र के रहने वाले हैं और उनका नाम कांग्रेस द्वारा जारी 29 प्रत्याशियों की चौथी सूची में शामिल है.

मध्यप्रदेश में 230 विधानसभा सीटों के लिए 28 नवंबर को चुनाव होने हैं. कांग्रेस ने अब तक 213 प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है. बाकी 17 सीटों के लिए पार्टी जल्द ही अपने प्रत्याशियों की सूची जारी करेगी.

चौथी सूची में कांग्रेस ने बुरहानपुर एवं सिरोंज सीटों के लिए पहले घोषित दो प्रत्याशियों को बदल दिया है. सिरोंज सीट पर अशोक त्यागी के स्थान पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के करीबी मशरत शाहिद को प्रत्याशी बनाया गया है जबकि बुरहानपुर सीट से हामिद काजी के स्थान पर अब रविन्द्र महाजन को टिकट दिया गया है.

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार पार्टी ने पहली सूची में हामिद काजी को बुरहानपुर सीट से टिकट दिया था, लेकिन कुछ कानूनी अड़चनों के चलते उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया और टिकट वापस कर दिया था. इसलिए पार्टी ने उनके स्थान पर रविन्द्र महाजन को उतारा है.

MP में कांग्रेस का हाथ थामने वाले शिवराज के साले का फिल्मों से भी नाता, अक्षय के साथ आ चुके हैं नजर
छह फिल्मों में काम कर चुके हैं संजय मसानी.

संजय सिंह का फिल्मों से रहा है रिश्ता
संजय सिंह मसानी मूल रूप से महाराष्ट्र के गोंदिया के रहने वाले हैं. सियासत के अलावा बॉलीवुड से भी उनका गहरा नाता रहा है. मध्य प्रदेश में शूट हुई कई फिल्मों में वह नजर आ चुके हैं. हाल ही में महेश्वर में पैडमैन फिल्म की शूटिंग हुई थी. उस फिल्म में संजय सिंह मसानी ने अक्षय कुमार के साले का किरदार निभाया था. अब तक वह लगभग आधा दर्जन फिल्मों में नजर आ चुके हैं. बॉलीवुड से नाता होने के कारण संजय सिंह काफी लोकप्रिय भी हैं. ऐसे में इनकी लोकप्रियता को पार पा पाना बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा.

संजय मसानी पर कांग्रेस ने लगाए थे आरोप
शिवराज सिंह चौहान के साले संजय मसानी का कांग्रेस में शामिल होना दिलचस्प वाक्या है. कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और उनके रिश्तेदार, खास तौर पर संजय मसानी को लेकर भ्रष्टाचार के जमकर आरोप लगा चुकी है. साल 2012 में कांग्रेस ने बाकायदा आयकर विभाग में संजय मसानी के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत की थी और कार्रवाई की मांग की थी.

शिवराज सिंह डंपर विवाद में फंसे थे, तो उसमें भी संजय मसानी का नाम आया था. डंपर विवाद में साधना सिंह पर 4 डंपर खरीदने की बात सामने आई थी, जिसे मुख्यमंत्री ने मान भी लिया था, लेकिन आरोप साबित नहीं हो पाए.

व्यापमं मामले में भी उनका नाम आरोपों के घेरे आया था. उस वक्त व्यापमं के व्हि‍सल ब्लोअर डॉक्टर आनंद राय ट्वीट करके उन पर गंभीर आरोप लगाए थे. संजय सिंह ने बदले में मानहानि का मुकदमा ठोकने की धमकी भी दी थी.

सुगंधित चावल के लिए प्रसिद्ध है बालाघाट
कांग्रेस ने शिवराज के साले संजय को जिस इलाके से टिकट दिया वह इलाका सुगंधित चावल के लिए प्रसिद्ध है. बालाघाट जिले का वारासिवनी क्षेत्र सुगंधित चावल उत्पादन के लिए मशहूर हैं. इस सीट पर बीजेपी का कब्जा है. पहले वारासिवनी कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था. वर्ष 1998 से लेकर 2008 तक यह सीट कांग्रेस के कब्जे में थी. वर्तमान में इस विधानसभा पर भाजपा के योगेन्द्र निर्मल विधायक हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close