शामली में आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या, आरोपी प्रॉपर्टी डीलर ने कबूला जुर्म

27 दिसंबर को कुलदीप नाम के व्यक्ति की मदद से सैफी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

शामली में आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या, आरोपी प्रॉपर्टी डीलर ने कबूला जुर्म
फाइल फोटो

मुजफ्फरनगर: शामली जिले के कांधला पुलिस थानाक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले शाहपुर गांव में एक आरटीआई कार्यकर्ता का शव बरामद किया गया. वह 27 दिसंबर से लापता था. पुलिस अधिकारियों ने शुक्रवार (11 जनवरी) को बताया कि कासिम सैफी दिसंबर के आखिरी हफ्ते से मुरादाबाद स्थित अपने घर से लापता थे. जांच के बाद प्रॉपर्टी डीलर विकास चौधरी से पूछताछ की गई, जिसने आरटीआई कार्यकर्ता की हत्या करने का जुर्म कबूल कर लिया.

पुलिस ने बताया कि सैफी के शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. 27 दिसंबर को कुलदीप नाम के व्यक्ति की मदद से सैफी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस अपराध को पुरानी दुश्मनी के चलते अंजाम दिया गया। पीड़ित के परिवार की शिकायत के आधार पर हमने जांच शुरू की थी. 


मृतक की फाइल फोटो. 

पुलिस ने बताया कि मृतक कासिम सैफी 14 दिन पूर्व घर से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया था, जिसके लापता होने के बाद कासिम के परिजनों ने अपहरण की आशंका जताते हुए थाना पाकबड़ा में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था.

इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर कासिम की तलाश शुरू कर दी थी. जिस पर मुरादाबाद पुलिस ने इस मामले से जुड़े एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया और पकड़े गए आरोपी की निशानदेही पर मुरादाबाद पुलिस कांधला पहुंची और पकड़े गए अभियुक्त की बताई गयी जगह पर पहुंचे, जहां पर कासिम का शव एक के खेत से बरामद कर लिया. मृतक कासिम को मुरादाबाद से अपहरण कर शामली लाया गया था और कांधला के जंगलों में लाकर गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया था.