जयपुर: HP की मनमर्जी से उपभोक्ता परेशान, गैस कनेक्शन किया 15 किलोमीटर दूर ट्रांसफर

राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई हिस्सों में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कंपनी की मनमानी के कारण एलपीजी उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर लेने के लिए 10 से 20 किलोमीटर तक चक्कर लगाने पड़ रहा है. 

जयपुर: HP की मनमर्जी से उपभोक्ता परेशान, गैस कनेक्शन किया 15 किलोमीटर दूर ट्रांसफर
HP ने जयपुर में अघोषित रूप से गैस कनेक्शन की पोर्टेबिलिटी बंद कर दी है. (फोटो साभार: zeebiz.com)

जयपुर: जयपुर शहर में हिन्दुस्तान पेट्रोलियम (HP) की विद्याधर नगर में खुली नई गैस एजेंसी की मनमर्जी के कारण आम उपभोक्ता काफी परेशान है. मालवीय नगर, मानसरोवर से 10 से 15 किमी दूर स्थित नई एजेंसी पर किए गए रसोई गैस कनेक्शन ट्रांसफर के कारण हजारों उपभोक्ता परेशान है. उपभोक्ताओं को वापस जाने से रोकने के लिए अघोषित रूप से पोर्टेबिलिटी बंद कर दी गई है. जिसके बाद पेट्रोलियम मंत्रालय से उपभोक्ताओं ने शिकायत की है.  

राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई हिस्सों में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कंपनी की मनमानी के कारण एलपीजी उपभोक्ताओं को गैस सिलेंडर लेने के लिए 10 से 20 किलोमीटर तक चक्कर लगाने पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि, विद्याधर नगर में एचपी ने एक नया एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स नियुक्त किया है. भागीरथ एचपी गैस के नाम से शुरु हुई इस एजेंसी पर हिंदुस्तान पैट्रोलियम ने मालवीय नगर, झालाना, मानसरोवर, हीरापुरा और शास्त्रीनगर स्थित एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स के बड़ी संख्या में गैस कनेक्शन इस भागीरथ एचपी गैस को ट्रांसफर कर दिए. जबकि जिन उपभोक्ताओं को यहां गैस कनेक्शन ट्रांसफर किया गया है, उनमें से कई तो 10 से 15 किमी दूर रहते हैं. 

यहां ट्रांसफर हुए कई उपभोक्ता अपना कनेक्शन दूसरी कंपनियों की गैस एजेंसी में पोर्ट भी नहीं करा पा रहा है. उपभोक्ताओं ने बताया कि एचपी ने पोर्टेबिलिटी बंद रखी है, जिससे उनको परेशानी हो रही है. वहीं उपभोक्ताओं के अधिकारियों से शिकायत के बावजूद अब तक कोई सुनवाई नहीं हो रही है. जिससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. 

इस मामले को लेकर हिन्दुस्तान पेट्रोलियम के सीनियर रीजनल मैनेजर संजय शर्मा से जी मीडिया ने बात करने का प्रयास किया था, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. वहीं, तेल कंपनियों के राज्य स्तरीय समन्वयक आर के गर्ग ने कहा कि कोई भी कंपनी रसोई गैस कनेक्शन की पोर्टेबिलिटी को बंद नहीं कर सकती. अगर इसके संबंध में उपभोक्ताओं को कोई शिकायत है, तो इसका जल्द समाधान किया जाएगा. 

जबकि, एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन ऑफ राजस्थान के महासचिव कार्तिकेय गौड़ ने कहा कि एचपी की पोर्टेबिलिटी बंद होने से उपभोक्ता काफी परेशान हो रहे हैं. पेट्रोलियम कंपनियों के अधिकारी यहां सुनवाई नहीं करते, इसलिए अब मंत्रालय को शिकायत भेजी गई है. पोर्टेबिलिटी अगर शुरु हो जाए तो उपभोक्ताओं की समस्या सुलझ सकती है.

आपको बता दें कि, गैस कनेक्शन ट्रांसफर होने के बाद उपभोक्ताओं को नई गैस एजेंसी से आधार नंबर जमा कराने के अलावा पास-बुक लेना पड़ता है. वहीं, उनको कूपन लेने के लिए गैस एजेंसी आना होता है. अब इतनी अधिक दूर कनेक्शन ट्रांसफर करने से उपभोक्ताओं को अनावश्यक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.