Health News

शरीर के वजन को रखना है मेंटेन तो नाश्ता करें भरपूर

शरीर के वजन को रखना है मेंटेन तो नाश्ता करें भरपूर

दिनभर में सबसे ज्यादा आहार सुबह के नाश्ते में लेना चाहिए और रात में कम से कम 18 घंटे तक कुछ नहीं खाना चाहिए.

अब आप घर बैठे ही फोन पर ले सकेंगे डॉक्टर से सलाह

अब आप घर बैठे ही फोन पर ले सकेंगे डॉक्टर से सलाह

 उत्तर प्रदेश के दूर दराज के गांवों के गरीब लोग भी अब घर बैठे बस एक फोन पर अपने स्वास्थ्य के बारे में विशेषज्ञ डाक्टरों से परामर्श ले सकेंगे. यह सुविधा नए साल से शुरू होगी और दिन के सातों दिन और 24 घंटे उपलब्ध होगी. 

डायबिटीज के मरीज पैरों की जांच पर दें विशेष ध्यान, वरना आ सकती है पैर काटने तक की नौबत

डायबिटीज के मरीज पैरों की जांच पर दें विशेष ध्यान, वरना आ सकती है पैर काटने तक की नौबत

थोड़ी सी भी चोट या पैर की अंगुली या नाखून के संक्रमण से अल्सर हो सकता है

देश में पिछले पांच वर्षों में मधुमेह पीड़ितों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई

देश में पिछले पांच वर्षों में मधुमेह पीड़ितों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई

नई दिल्लीः  देश में पिछले पांच वर्षों के दौरान मधुमेह पीड़ितों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है.

 VIDEO : वो गिटार बजाता रहा, डॉक्टर सर्जरी करते रहे

VIDEO : वो गिटार बजाता रहा, डॉक्टर सर्जरी करते रहे

बेंगुलरू के प्राइवेट अस्पताल में कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला. एक संगीतकार अपनी  सर्जरी के दौरान गिटार बजा रहा था. डॉक्टरों ने गिटारवादकों को प्रभावित करने वाले एक विकार को ठीक करने के लिए उसकी सर्जरी की गई. 

Zee जानकारी : भारतीय भोजन में अब पहले वाली बात कहां

Zee जानकारी : भारतीय भोजन में अब पहले वाली बात कहां

IDA के मुताबिक गेहूं में 9% Carbohydrate कम हो गया है इसके अलावा बाजरे में 8.5% carbohydrate कम पाया गया है.पिछले 30 वर्षों में मूंग की दाल में Iron Content 6.12% कम हो गया है जबकि मसूर की दाल में Protein 10% कम पाया गया, Protein हमारे शरीर के लिए बहुत ज़रूरी पोषक तत्व है और इसकी कमी से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं.

बारिश के मौसम में खुद से दवा लेने पर बिगड़ सकती है एलर्जी, अपनाएं ये आसान उपाय

बारिश के मौसम में खुद से दवा लेने पर बिगड़ सकती है एलर्जी, अपनाएं ये आसान उपाय

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का कहना है कि खुद से दवाएं लेने पर एलर्जी और अधिक बिगड़ सकती है. देश के कुल आबादी के लगभग 20 से 30 प्रतिशत लोगों में एलर्जी कारक राइनाइटिस रोग मौजूद हैं. प्रति दो लोगों में से लगभग एक व्यक्ति आम पर्यावरणीय कारणों से किसी न किसी प्रकार की एलर्जी से प्रभावित है.

केरल का ये न्यूज चैनल देगा पीरियड्स के पहले दिन महिलाओं को छुट्टी

केरल का ये न्यूज चैनल देगा पीरियड्स के पहले दिन महिलाओं को छुट्टी

मीडिया समूह मातृभूमि ग्रुप ने बुधवार को अपनी महिला कर्मचारियों के लिए उनके मासिक चक्र के पहले दिन एक अतिरिक्त छुट्टी देने की घोषणा की है. इससे पहले मुंबई की मीडिया कंपनी कल्चर मशीन इसी तरह की छुट्टी की घोषणा कर चुकी है. मौजूदा समय में यह प्रावधान समूह के सिर्फ मातृभूमि न्यूज ने लागू किया है. मातृभूमि टीवी चैनल का मुख्यालय केरल में है. इसके स्टॉफ में 75 महिलाएं हैं. इस व्यवस्था को जल्द ही समूह के ऑनलाइन और प्रिंट जैसे दूसरे विभागों में लागू किया जाएगा.

म्यांमार में हालात बेहद बदतर, 80 हजार बच्चे कुपोषण का शिकार: रिपोर्ट

म्यांमार में हालात बेहद बदतर, 80 हजार बच्चे कुपोषण का शिकार: रिपोर्ट

पश्चिमी म्यांमार के मुस्लिम बहुसंख्यक क्षेत्रों में रह रहे पांच साल से कम उम्र के 80 हजार से ज्यादा बच्चे गंभीर कुपोषण का शिकार हैं और आगामी वर्ष में उन्हें इसके उपचार की आवश्यकता होगी. संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्लूएफपी) ने हाल में एक रिपोर्ट जारी कर यह चेतावनी दी, जो राखिने राज्य के गांवों में किए गए आकलन पर आधारित है. 

गर्भ में ही भाषा सीखने लगते हैं बच्चेः अमेरिकी यूनिवर्सिटी रिसर्च

गर्भ में ही भाषा सीखने लगते हैं बच्चेः अमेरिकी यूनिवर्सिटी रिसर्च

वाशिंगटनः वैज्ञानिकों का कहना है कि बच्चे गर्भ में ही भाषा सीखने लगते हैं. उन्होंने पाया किया कि बच्चे अपने जन्म से एक महीने पहले अंग्रेजी और जापानी भाषा में भेद कर सकते हैं.

मानसून के दौरान बीमारियों से बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

मानसून के दौरान बीमारियों से बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

मानसून के दौरान कई तरह के त्वचा संबंधी और सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों का अंदेशा बना रहता है. मानसून के दौरान बेहतर स्वास्थ के लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है. विशेषज्ञों ने मानसून को देखते हुए स्वास्थ संबंधी कुछ उपाय बताए हैं.

पीरियड्स के पहले दिन महिलाओं को मिलेगी छुट्टी, मुंबई की दो कंपनियां ने किया ऐलान VIDEO

पीरियड्स के पहले दिन महिलाओं को मिलेगी छुट्टी, मुंबई की दो कंपनियां ने किया ऐलान VIDEO

 मुंबई की कल्चर मशीन फर्म और गोजुप ने अपने फीमेल कर्मचारियों के लिए पीरियड्स के पहले दिन छुट्टी देने की घोषणा की है. इसपर कंपनी में काम करने वाली महिलाओं ने अपनी-अपनी प्रतिक्रिया भी जाहिर की है जिसे उन्होंने एक वीडियो के जरिए शेयर भी किया है. 

अगर आपका बच्चा भी नींद में दांत पीसता है तो हो सकता है कि उसे धमकाया जा रहा है: रिपोर्ट

अगर आपका बच्चा भी नींद में दांत पीसता है तो हो सकता है कि उसे धमकाया जा रहा है: रिपोर्ट

नींद के दौरान अगर आपका बच्चा दांत पीसता है तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि उसे स्कूल में डराया धमकाया जा रहा है. यह जानकारी एक हालिया अध्ययन में सामने आयी है. ब्रिटेन में दांतों के स्वास्थ्य के लिए काम करने वाली एक संस्था ने अध्ययन में पाया है कि जो किशोर धमकाये जाने से पीड़ित होते हैं उनके नींद में दांतों को पीसने की संभावना अधिक होती है. यह एक संकेत है जिससे माता-पिता को पीड़ित बच्चे की पहचान जल्दी करने में मदद मिल सकती है.

यकीनन! टमाटर खाने का यह फायदा नहीं जानते होंगे आप

यकीनन! टमाटर खाने का यह फायदा नहीं जानते होंगे आप

टमाटर में पाया जाने वाला लाइकोपीन रसायन भी कैंसर से लड़ने में सक्षम है. अध्ययन के सह लेखक डॉ. जेसिका कूपरस्टोन ने कहा कि फल या सब्जियां कोई दवाई नहीं हैं, लेकिन इनके उपभोग से बीमारियां होने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती हैं. यहां बता दें कि नॉन-मेलेनोमा त्वचा कैंसर विश्व में सबसे आम त्वचा कैंसर है. दुनियाभर में हर साल लाखों लोग इस कैंसर से पीड़ित होते हैं.

हर्बल क्वीन शहनाज से जानिए मानसून में त्वचा और बालों की देखभाल का तरीका

हर्बल क्वीन शहनाज से जानिए मानसून में त्वचा और बालों की देखभाल का तरीका

मानसून के दौरान नमी तथा आद्र्रता भरे मौसम में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है, जिससे शरीर में कीटाणुओं के संक्रमण की वजह से त्वचा तथा बालों की कई समस्याओं से जूझना पड़ता है. ऐसे में त्वचा में जलन, फुंसी, लाल चकत्ते तथा दाद खाज जैसी समस्या हो जाती है. इन समस्याओं से निजात दिलाने के लिए सतर्कता जरूरी है. अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौंदर्य विशेषज्ञ और हर्बल क्वीन के नाम से लोकप्रिय शहनाज हुसैन ने कहा कि मानसून के मौसम में त्वचा को नमी या गीलेपन से बचाने की अत्याधिक आवश्यकता होती है क्योंकि गीलेपन से त्वचा में कीटाणु प्रवेश करते हैं. 

रिपोर्ट: ऑटिज्म से पीड़ित महिलाओं को करना पड़ना है ज्यादा चुनौतियों का सामना

रिपोर्ट: ऑटिज्म से पीड़ित महिलाओं को करना पड़ना है ज्यादा चुनौतियों का सामना

ऑटिज्म से पीड़ित महिलाओं और लड़कियों को अपने दैनिक दिनचर्या करने में बहुत अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. ऑटिज्म एक मानसिक बीमारी है, जिसके लक्षण बचपन से ही नजर आने लगते हैं. इस रोग से पीड़ित बच्चों का विकास तुलनात्मक रूप से धीमे होता है. इस रोग से पीड़ित लोग समाज में घुलने-मिलने में हिचकते हैं. वह किसी सवाल या कार्य पर प्रतिक्रिया देने में भी काफी समय लेते हैं. 

आंखों की देखभाल और बेहतर रोशनी के लिए अपनाएं ये आसान और जरूरी उपाय

आंखों की देखभाल और बेहतर रोशनी के लिए अपनाएं ये आसान और जरूरी उपाय

यह तकनीकी युग है और हम फोन चेक करने, कंप्यूटर स्क्रीन पर देखते हुए काम करने, गेम खेलने और टेलीविजन देखने जैसे काम ज्यादा करते हैं, जिससे हमारी आंखों की रोशनी काफी प्रभावित होती है. स्वस्थ आंखों के लिए पौष्टिक भोजन का सेवन, व्यायाम और आंखों का ख्याल रखना जरूरी है. आई डिपार्टमेंट के प्रमुख संजय वर्मा और बेंगलुरू के नारायण नेत्रालय के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के. भुजंग शेट्टी ने आंखों की देखभाल और उन्हें स्वस्थ रखने के लिए कुछ आसान और जरुरी उपाय बताए हैं.  

बरसात में नहीं बरती एहतियात तो त्वचा रोग जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है : डॉक्टर

बरसात में नहीं बरती एहतियात तो त्वचा रोग जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है : डॉक्टर

बरसात के मौसम में बारिश में नहाना या सड़कों पर भरे पानी में निकलने की कल्पना ही किसी को भी आनंदित और रोमांचित कर सकती है लेकिन इस मौसम में एहतियात नहीं बरती जाये तो कई बीमारियां हो सकती हैं. डॉक्टरों के मुताबिक इस मौसम में चर्म रोग (त्वचा), वायरल बुखार और टाइफाइड जैसी बीमारियां किसी भी व्यक्ति को अपनी चपेट में ले सकती हैं.

रिसर्च में खुलासा, काम के घंटे लंबे होने से दिल के दौरे का खतरा

रिसर्च में खुलासा, काम के घंटे लंबे होने से दिल के दौरे का खतरा

काम के घंटे लंबे होने से दिल की धड़कन के अनियमित होने का जोखिम हो सकता है. इस अवस्था को आट्रियल फाइब्रलेशन कहते हैं. यह स्ट्रोक व हार्ट फेल्योर को बढ़ाने का काम करता है.

प्लास्टिक के बर्तनों में खाने-पीने से पुरुषों को हो सकती हैं गंभीर बीमारियां

प्लास्टिक के बर्तनों में खाने-पीने से पुरुषों को हो सकती हैं गंभीर बीमारियां

रोजमर्रा के काम में इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक में पाए जाने वाले हानिकारक रसायनों से पुरुषों में गंभीर बीमारियां होने की आशंका रहती है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एडिलेड विश्वविद्यालय व दक्षिण ऑस्ट्रेलियाई स्वास्थ्य एवं मेडिकल अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने 1,500 से ज्यादा पुरुषों में थैलेट्स नामक रसायन की मौजूदगी की संभावना की जांच की है. यह रसायन दिल की बीमारी व उच्च रक्तचाप व टाइप-2 मधुमेह से जुड़ा है.

सप्ताह में तीन घंटा फुटबॉल खेलिए और हड्डियों को बनाए मजबूत

सप्ताह में तीन घंटा फुटबॉल खेलिए और हड्डियों को बनाए मजबूत

यदि आपका बच्चा फुटबॉल खेलता है तो यह उसके हड्डियों के लिए फायदेमंद साबित होगा. एक शोध में सामने आया है कि लड़कों के हफ्ते में सिर्फ तीन घंटे फुटबॉल खेलने से हड्डियों के मजबूत और स्वस्थ रहने की संभावना बढ़ जाती है.