लोकसभा में सरकार ने कहा- जम्मू-कश्मीर में 2015 के बाद से मारे गए 581 आतंकवादी

सरकार ने कहा कि  2015 के बाद से सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में सेना के 44 और बीएसएफ के 25 जवानों की मौत हुई.

लोकसभा में सरकार ने कहा- जम्मू-कश्मीर में 2015 के बाद से मारे गए 581 आतंकवादी
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: सरकार ने बुधवार को बताया कि जम्मू-कश्मीर में 2015 के बाद से 581 आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया है, जबकि भारत-पाकिस्तान सीमा और नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम के उल्लंघन में 69 जवानों की मौत हो गई.

रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि 2015 में सुरक्षाकर्मियों ने 108 आतंकवादियों को मार गिराया. इसी तरह 2016 में 150 आतंकी मारे गए और 2017 में 113 आतंकवादी मारे गए. इस साल 22 जुलाई तक 110 आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया. उन्होंने कहा कि 2015 के बाद से सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में सेना के 44 और बीएसएफ के 25 जवानों की मौत हुई.

संघर्ष विराम के दौरान आई पत्थरबाजी में कमी
वहीं सरकार ने बुधवार को राज्यसभा में कहा कि जम्मू कश्मीर में इस साल रमजान में संघर्ष विराम के दौरान पत्थरबाजी की घटनाओं में कमी आई है. गृह राज्यमंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने बुधवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी. अहीर ने बताया कि केन्द्र सरकार ने गत 16 मई को कश्मीर में तैनात सेना और सुरक्षा बल के जवानों को रमजान के दौरान आक्रामक अभियान नहीं चलाने का निर्देश दिया था.

उन्होंने बताया कि इस साल 17 मई से 17 जून तक राज्य में पत्थरबाजी की 117 घटनायें दर्ज की गई. जबकि इससे पहले 15 अप्रैल से 16 मई तक राज्य में पत्थरबाजी की 219 घटनायें हुई थीं.

(इनपुट- भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close