करन नगर एनकाउंटरः मुठभेड़ में दोनों आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

भारतीय सेना ने इमारत को चारों ओर से घेर रखा है. दोनों ही तरफ से रूक-रूक पर फायरिंग की जा रही है. सीआरपीएफ के मुताबिक इमारत को पूरी तरह से घेर लिया गया है. 

करन नगर एनकाउंटरः मुठभेड़ में दोनों आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर
श्रीनगर के करन नगर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है (फोटो साभारः ANI)

श्रीनगरः सोमवार को भारतीय सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले का जवाब दे रही भारतीय सेना ने मंगलवार को दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया है. सीआरपीएफ कैंप पर हमला करने के बाद सोमवार को यह दोनों आतंकी एक इमारत में जा छिपे थे, जिसके बाद भारतीय सेना ने वहां रहने वाले 5 परिवारों को सुरक्षित निकाला था. इमारत पर कब्जा करने के बाद आतंकियों ने पूरी रात फायरिंग की. रात को अंधेरे का फायदा उठाकर आतंकी फरार ना हो जाए, इसलिए भारतीय सेना की ओर से भी बीच-बीच में फायरिंग की गई.

लश्कर-ए-तैयबा से था आतंकियों का संबंध
आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन खत्म होने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए आईजीपी एसपी ने बताया कि दोनों आतंकवादियों की पहचान कर ली है. दोनों का संबंध आतंकी समूह लश्कर-ए-तैयाब से था. उन्होंने बताया कि गोलीबारी में घायल हुए भारतीय सेना के जवान फिलहाल खतरे से बाहर हैं. अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है, सही देखभाल के बाद वह जल्द ही स्वस्थ हो जाएंगे.

आखिरी अंजाम पर पहुंचा ऑपरेशन
आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे इस ऑपरेशन के बारे में जानकारी देते हुए सेना के आईजीपी स्वयं प्रकाश पानी ने कहा कि ऑपरेशन अपने आखिरी अंजाम पर पहुंच चुका है. इमारत में अब भी दो आतंकी छिपे हुए हैं, जिन्हें निकलने के लिए सेना लगातार काम कर रही है. उन्होंने कहा कि सेना को उम्मीद है कि जल्द ही ऑपरेशन खत्म हो जाएगा.

देखिए वीडियो

 

 

 

यह भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर: सुंजवान आर्मी कैंप में आतंकियों को घेर लिया है, ऑपरेशन जारी- भारतीय सेना

 

 

पढ़ें: सुंजवान कैम्प पर आतंकी हमला, देखिए तस्वीरें

भारतीय सेना का एक जवान शहीद 
जम्मू के सुंजवान में आर्मी कैंप पर आंतकी हमले के तुरंत बाद करन नगर में हुए इस हमले में भारतीय सेना का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया था, जिसके बाद उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. मंगलवार को सीआरपीएफ के शीर्ष अधिकारियों ने शहीद हुए सेना के जवान एमएम खान को श्रद्धांजिल दी. बता दें कि एमएम खान भारतीय सेना के 49 बटालियन में तैनात थे. आतंकियों के कहर के कारण जिले में हर तरह की इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है. वहीं, सुंजवान अटैक में शहीद हुए भारतीय सेना के 6 जवानों को जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती और डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने श्रद्धांजलि दी.

 

 

 

एक्सीडेंट में LeT के दो आतंकी ढेर हुए 
सोमवार को बारामूला में एक सड़क दुर्घटना में दो आतंकवादियों के मारे जाने की सूचना है. सेना से मिली जानकारी के मुताबिक, सोपोर के हरपोरा इलाके में एक सड़क दुर्घटना में बाइक सवार दो लोगों की मौत हो गई. सेना ने मृतकों की पहचान लश्कर-ए-तैयबा के सदस्यों के रूप में की. उनके पास से हथियार भी बरामद किए गए. पुलिस ने बताया कि मोटरसाइकिल सवार दो आतंकवादी गाड़ी अनियंत्रित होने पर फिसलकर गिर गए और गंभीर चोट आने के कारण उनकी मौत हो गई. उनमें से एक की पहचान ओवैस बशीर के रूप में हुई. वहीं, एक अन्य मामले में बडगाम जिले में आतंकवादियों ने विद्युत विभाग में काम करने वाले मुहम्मद यूसुफ राठेर की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी जब वे गाड़ी से कहीं जा रहे थे.

सुंजवान में जारी है सेना का ऑपरेशन
एक तरफ सेना ने आतंकियों के खिलाफ करन नगर में कार्रवाई करने में लगी हुई है, तो दूसरी तरफ सुंजवान में भी मिलिट्री स्टेशन में सर्च ऑपरेशन जारी है. इस ऑपरेशन में एक और सेना के जवान का शव बरामद हुआ है. एक और सैनिक का शव बरामद होने के बाद इस हमले में शहीद हुए सैनिकों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है. शनिवार सुबह हुए आतंकी हमले में अब तक 6 सैनिक और एक सिवीलियन समेत 7 लोग शहीद और 11 लोग घायल हुए थे. इस हमले का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने 3 पाकिस्तान के आतंकियों को मार गिराया था.  उधर जम्मू के ही रायपुर में सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है. आतंकियों का पता लगाने के लिए सेना द्वारा हेलिकॉप्टर की मदद ली जा रही है.

 

 

बर्फ बनेगी सेना की परेशानी
एक तरफ सेना घाटी में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को अंजाम दे रही है तो दूसरी तरफ सोमवार को बार फिर श्रीनगर समेत कई इलाकों में बर्फबारी हुई है. बर्फबारी के बाद घाटी में मौसम तो सुहाना हो गया है, लेकिन सेना की परेशानी बढ़ गई है. बर्फबारी वाले इलाकों में आतंकी किसी घटना को अंजाम ना दे इसके लिए सेना सर्तक हो गई है. श्रीनगर, लेह समेत तमाम आतंकवाद प्रभावित क्षेत्रों में सेना द्वारा अलर्ट जारी कर दिया गया है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close