कांग्रेस शासित ये राज्य ही शामिल नहीं हुआ उसके बुलाए 'भारत बंद' में

कांग्रेस शासित मिजोरम में सोमवार को कहीं भी ‘भारत बंद’ का असर नजर नहीं आया और दुकानें, कार्यालय तथा शैक्षणिक संस्थान खुले रहे.

कांग्रेस शासित ये राज्य ही शामिल नहीं हुआ उसके बुलाए 'भारत बंद' में
मिजोरम के बाजारों में रोजाना की ही तरह हलचल रही. फाइल फोटो

आईजॉल :  डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमतों और महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने पूरे देश में 10 सितंबर को भारत बंद बुलाया था. लेकिन उसके इस बंद में कांग्रेस शासित राज्य ही शामिल नहीं हुआ. कांग्रेस के बुलाए इस बंद में देश की करीब 21 पार्टियां शामिल हुईं, लेकिन पूर्वोत्तर में मिजोरम में बंद का कोई असर नहीं दिखा. मिजोरम में लंबे समय से कांग्रेस का राज है, लेकिन वहां पर इस बंद का कोई असर नहीं दिखा.

कांग्रेस शासित मिजोरम में सोमवार को कहीं भी ‘भारत बंद’ का असर नजर नहीं आया और दुकानें, कार्यालय तथा शैक्षणिक संस्थान खुले रहे. पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में अभूतपूर्व वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस ने राष्ट्रव्यापी बंद बुलाया था. इसका 21 राजनीतिक दलों ने समर्थन किया था. लेकिन मिजोरम प्रदेश कांग्रेस समिति (एमपीसीसी) और विपक्षी दल, कोई भी इसमें शामिल नहीं हुआ.

पहले भी महंगा हुआ है कच्चा तेल, जानिए 'मनमोहन राज' में क्या था पेट्रोल की कीमतों का हाल

एमपीसीसी के उपाध्यक्ष तथा राज्य के गृह मंत्री आर लालजिरलांगा ने बताया कि राज्य में ‘भारत बंद’ में शामिल होने के बारे में चर्चा नहीं हुई, न ही इस मुद्दे पर किसी बैठक का आयोजन किया गया. हालांकि राज्य की राजधानी में दोपहर के वक्त वनापा हॉल के सामने सांकेतिक धरना दिया जाएगा.

मप्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के साथ इस साल के अंत में मिजाेरम में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं. राज्य के मुख्यमंत्री पी ललथनहावला ने कहा, उन्हें नहीं पता कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी क्यों इस बंद में शामिल नहीं हुई. कांग्रेस के इस बंद में न तो कांग्रेस ने हिस्सा  लिया और न ही दूसरी विपक्षी पार्टियों ने.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close