अंडमान-निकोबार के 3 आइलैंड के नाम बदले जाएंगे, अब कहलाएंगे सुभाषचंद्र बोस, शहीद और स्वराज द्वीप

अंडमान-निकोबार के नील आइलैंड का नाम शहीद द्वीप और हैवलॉक आइलैंड का नाम स्वराज द्वीप कर दिया गया है.

अंडमान-निकोबार के 3 आइलैंड के नाम बदले जाएंगे, अब कहलाएंगे सुभाषचंद्र बोस, शहीद और स्वराज द्वीप
फाइल फोटो

अंडमान-निकोबारः केंद्र सरकार ने अंडमान निकोबार द्वीप समूह के तीन आइलैंड के नामों में बदलाव करने का फैसला ल‍िया है. केंद्र सरकार ने इन तीनों ही आइलैंड्स के नाम में परिवर्तन कर इन्हें नया नाम देने का निर्णय क‍िया हैै. इनमें जहां रोस आइलैंड का नाम बदलकर नेताजी सुभाषचंद्र बोस होगा तो वहीं नील आइलैंड का नाम शहीद द्वीप और हैवलॉक आइलैंड का नाम स्वराज द्वीप होगा.

2004 की सुनामी में जो समुदाय बिना किसी मदद के बच गया, उस पर अमेरिकी की हत्‍या का आरोप

बता दें कुछ समय पहले ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संगम नगरी इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया था, जिसके बाद उत्तर प्रदेश में कुछ और भी शहरों के नाम बदले गए. जिसे लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को काफी विवादों का सामना करना पड़ा था. शहर का नाम बदले जाने को लेकर राजनीतिज्ञों और आम जनता का कहना था कि नाम बदलकर उन्हें क्या हासिल होने वाला है.

 

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का नाम भी बदलने की सिफारिश, कुलपति ने सरकार को भेजा प्रस्‍ताव

वहीं अपने पर हो रहे हमले पर CM योगी आदित्यनाथ ने एक कार्यक्रम में इसके बारे में बात करते हुए कहा था कि 'लोग कह रहे हैं कि शहरों का नाम क्यों बदल दिया. नाम से क्या होता है ? मैंने कहा तुम्हारे माता-पिता ने तुम्हारा नाम दुर्योधन या रावण क्यों नहीं रख दिया ? नाम का इस देश में ही नहीं दूसरे देशों में भी बहुत महत्व है. इस देश में सबसे अधिक नाम राम से जुड़ते हैं. अनुसूचित समाज में अधिकतम लोगों का नाम राम से जुड़ा है. नाम हमारी गौरवमयी परंपरा को साथ जोड़ता है.'