जम्मू-कश्मीर : PAK की ओर से की गई गोलीबारी में एक महिला की मौत, तीन जवान घायल

सरकार ने बताया कि गुरुवार शाम चार बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी सेना ने मनकोट सेक्टर में गोलाबारी शुरू की.

ज़ी न्यूज़ डेस्क ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Feb 9, 2018, 10:50 PM IST
जम्मू-कश्मीर : PAK की ओर से की गई गोलीबारी में एक महिला की मौत, तीन जवान घायल
(प्रतीकात्मक फोटो)

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के राजस्व मंत्री अब्दुल रहमान विरी ने बताया है कि पाकिस्तान की तरफ से पिछले 24 घंटों में पुंछ में हुई गोलाबारी में एक नागरिक की मौत हो गई और तीन जवान घायल हो गए. नेशनल कांफ्रेंस के विधायक मियां अल्ताफ अहमद और अन्य विधायकों द्वारा हालिया सीमा-पार गोलीबारी से हुई जान-माल की हानि के संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए मंत्री ने विधानसभा में बताया कि गुरुवार शाम चार बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी सेना ने मनकोट सेक्टर में गोलाबारी शुरू की. यहां भारतीय सेना के 22 सिख रेजिमेंट तैनात हैं. 

गोलपुरु और बालाकोट सेक्टर से भी आई गोलीबारी की खबर
उन्होंने बताया कि गोलाबारी की इस घटना में नार बालनोई की रहनेवाली जैनब बी (45 साल) नाम की महिला की मौत हो गई जबकि तीन जवान हवलदार लखविंदर सिंह, हवलदार बलवीर सिंह और लांस नायक चंद्रदीप सिंह घायल हो गए. विरी ने बताया कि गोलपुर और बालाकोट सेक्टर से भी  गुरुवार को गोलीबारी की खबर आई है. हालांकि यहां किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. मंत्री ने बताया कि पुंछ में जिला प्रशासन जान-माल की हानि को रोकने के लिए कदम उठा रहे हैं. 

केंद्र ने जम्मू-कश्मीर सरकार को जेल की सुरक्षा की समीक्षा करने को कहा 
वहीं दूसरी तरफ जेल में बंद पाकिस्तानी आतंकी को छुड़ा ले जाने की घटना को गंभीरता से लेते हुए केंद्र ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर सरकार को जेलों एवं कैदियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने से जुड़े सुरक्षा प्रबंध की समीक्षा करने को कहा है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि भविष्य में इस प्रकार की कोई घटना ना हो. मंत्रालय ने जेल की सुरक्षा में सीआरपीएफ को तैनात करने का भी निर्देश दिया है. 

रक्षा सचिव ने LOC का दौरा किया, कश्मीर में सुरक्षा स्थिति का लिया जाय

गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'गृह मंत्रालय ने मुद्दे को गंभीरता से लिया है और भविष्य में इस तरह की घटना ना हो इसे सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार को सुरक्षा प्रबंधों की समीक्षा करने और कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.' पाकिस्तानी आतंकी नवीद जट्ट को श्रीनगर केंद्रीय कारागार से भगाए जाने के बाद आयोजित उच्चस्तरीय बैठक के बाद यह कदम उठाया गया.

श्रीनगर जेल में 16 पाकिस्तानी आतंकी बंद हैं, जिनमें से सात को जम्मू ले जाया जा रहा है और इस मुद्दे पर चर्चा जारी है कि अन्य को कहां भेजा जाए. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर सरकार ने केंद्र सरकार को इस बात को लेकर आश्वस्त किया है कि आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं और जेल सुरक्षा की समीक्षा की जा रही है. 

(इनपुट - भाषा)