दुनिया में 6 करोड़ से अधिक रिफ्यूजी, टोक्यो ओलंपिक में भी उतरेगी उनकी टीम : आईओसी

इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (आईओसी) के अध्यक्ष थॉमस बाक ने कहा कि उनके पास रिफ्यूजी टीम तैयार करने के लिए दो साल का वक्त है.

दुनिया में 6 करोड़ से अधिक रिफ्यूजी, टोक्यो ओलंपिक में भी उतरेगी उनकी टीम : आईओसी
आईओसी के अध्यक्ष थॉमस बाक अर्जेंटीना में न्यूज कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए. (फोटो: Reuters)

ब्यूनस आयर्स: जापान में 2020 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक में एक टीम शरणार्थियों (रिफ्यूजी) की भी होगी. इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (आईओसी) ने इसके लिए शरणार्थियों की एक टीम बनाने की घोषणा की है. 

आईओसी के अध्यक्ष थॉमस बाक ने 133वें आईओसी सत्र में इसकी घोषणा की. बाक ने कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमें शरणार्थियों की की टीम बनानी पड़ रही है. लेकिन इसकी बड़ी वजह है. दुनिया में अभी 6.85 करोड़ शरणार्थी हैं. हम खेलों के जरिये इन लोगों को दुनिया में अपना योगदान देने का मौका देना चाहते हैं. 

बाक ने कहा, ‘हम पिछली बार रियो ओलंपिक में काफी दबाव में थे. अब हमारे पास दो साल हैं. हमने पहले से ही सावधानी रखनी शुरू कर दी है और हमारे पास एथलीटों का एक समूह है. हम पहले से ही 51 या 52 शरणार्थी एथलीटों का समर्थन कर रहे हैं, जिनकी हमने पहचान की है. टोक्यो ओलंपिक के लिए यह समूह और भी बढ़ सकता है.’

आईओसी ने शरणार्थियों की टीम के गठन के साथ दुनियाभर में लाखों शरणार्थी और आंतरिक रूप से विस्थापित एथलीटों के लिए एकजुटता का संदेश व्यक्त किया. बाक ने कहा, ‘हमें ओलंपिक खेलों के लिए शरणार्थियों की टीम की जरूरत है. हम शरणार्थी एथलीटों का बेहतर रूप से स्वागत करेंगे और उन्हें टोक्यो ओलंपिक में घर जैसा माहौल देंगे.’

रियो ओलंपिक में 10 शरणार्थी खिलाड़ी खेले थे
साल 2016 में ब्राजील के रियो डी जनेरियो में हुए ओलंपिक में भी शरणार्थी टीम उतारी गई थी. इसमें इथियोपिया, दक्षिण सूडान, सीरिया और कांगो के 10 शरणार्थी एथलीट शामिल थे. टोक्यो ओलंपिक 24 जुलाई से नौ अगस्त तक होंगे. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close