close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नवादा : बरामद खोखे ने पुलिस को सकते में डाला, नक्सलियों के ISI कनेक्शन के संकेत

रतनपुर जंगल में सबसे ऊंची पहाड़ी की चोटी पर चार दिन पूर्व हुए मुठभेड़ में कारतूस का एक खोखा बरामद हुआ है, जिसपर उर्दू में कुछ शब्द अंकित हैं. 

नवादा : बरामद खोखे ने पुलिस को सकते में डाला, नक्सलियों के ISI कनेक्शन के संकेत
पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से खोखा बरामद किया है.

नवादा : बिहार के नवादा जिला के रतनपुर जंगल में नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बरामद खोखे और कारतूस ने पुलिस और सुरक्षा बल को सकते में डाल दिया है. नक्सलियों के तार पाकिस्तानी आतंकियों से जुड़े होने की संभावना जताई जा रही है. पुलिस भी इसे परोक्ष रूप से स्वीकार कर रही है कि नक्सलियों को सीमा पार से हथियारों की आपूर्ति के संकेत मिले हैं. 

रतनपुर जंगल में सबसे ऊंची पहाड़ी की चोटी पर चार दिन पूर्व हुए मुठभेड़ में कारतूस का एक खोखा बरामद हुआ है, जिसपर उर्दू में कुछ शब्द अंकित हैं. यह बताया जा रहा है कि देश में कारतूस पर अंग्रेजी में नंबर अंकित होता है. इससे कारतूस बनाने वाली कंपनी और निर्माण के वर्ष आदि का पता चलता है.

नवादा में पहली बार ऐसा खोखा बरामद हुआ है, जिसकी पेंदी पर पर उर्दू में अंक अंकित हैं. यह खोखा एके-47 का बताया जा रहा है. कारतूस के 'मेड इन पाकिस्तान' की पूरी संभावना जताई जा रही है.

शनिवार को रतनपुर जंगल में उस स्थान पर सर्च ऑपरेशन चलाया गया था, जहां 24 जनवरी को नक्सलियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई थी. करीब तीन घंटे तक चले सर्च ऑपरेशन में सात खोखे बरामद किए गए हैं. जिस जगह पर मुठभेड़ में नक्सलियों का शव बरामद हुआ है वहां से पांच सौ मीटर ऊपर से एक खोखा बरामद किया गया है. पुलिस का मानना है कि उसी स्थान पर हार्डकोर नक्सली प्रद्युम्न शर्मा अपने अन्य साथियों के साथ मौजूद था, जबकि पांच सौ मीटर नीचे कुछ नक्सली उसकी सुरक्षा में खड़े थे.

सूत्र बताते हैं कि कुछ महीने पहले नक्सली संगठन की उच्चस्तरीय बैठक में भाग लेने प्रद्युम्न आंध्रप्रदेश गया था. वहां कई दिनों तक रहकर रणनीति तैयार करने के बाद वापस लौटा है. आंध्रप्रदेश के शीर्षस्थ नक्सली कमांडरों के आतंकी संगठन से भी नाते की बात सामने आती रही है. इसलिए इस आशंका को बल मिल रहा है कि प्रद्युम्न को भी आतंकी संगठन ने हथियार और कारतूस मुहैया करा सकते हैं.

एएसपी कुमार आलोक ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से बरामद खोखे से नक्सलियों का आईएसआई कनेक्शन की संभावना दिख रही है. फिलहाल इसकी जांच की जा रही है.