धनबाद में दिखा भारत बंद का असर, कोयला माइंस से लेकर बैंक तक रहे बंद

हड़ताल का ज्यादा असर कोयलरी में देखा गया. ज्यादातर बिहार-कोलयरी कामगार यूनियन के सदस्य इस हड़ताल को सफल बनाने में लगे हुए थे. 

धनबाद में दिखा भारत बंद का असर, कोयला माइंस से लेकर बैंक तक रहे बंद
धनबाद में भारत बंद का असर दिखा.

धनबाद: राष्ट्रव्यापी हड़ताल को लेकर सभी ट्रेड यूनियनों के नेताओं ने सुबह से ही हड़ताल को सफल बनाने के लिए लगे हुए थे जिसका ज्यादा असर बीसीसीएल और बैंक में दिखा. सुबह से कोयला माइंस, बैंक, मोबाइल, दुकान दवा सेल्समेन, डाक, एलआईसी, आयकर कर्मी हड़ताल को सफल बनाने में थे. 

वहीं, हड़ताल का ज्यादा असर कोयलरी में देखा गया. ज्यादातर बिहार-कोलयरी कामगार यूनियन के सदस्य इस हड़ताल को सफल बनाने में लगे हुए थे. इस हड़ताल में ठेका मजदूरों ने अपनी एकता का परिचय दिया. कोयला का डिस्पेच सुबह से रुका रहा. वहीं, इस हड़ताल से बीसीसीएल का करोड़ों का नुकसान का अनुमान है.

इस हड़ताल का जिले भर में असर देखा गया. जहां बैंक, डाक औरआयकर विभाग के कर्मी निजीकरण के खिलाफ सड़क पर उतर कर विरोध किया. इस हड़ताल में मोबाइल दुकानदार भी एफडीआई जैसी सरकार की गलत नीति और पॉलिसी के विरोध में आज भारत आज बंद है.

विरोध करने के लिए दिल्ली के रामलीला मैदान में सम्पूर्ण भारत के मोबाइल व्यापारी आज विरोध करने दिल्ली गए हुए हैं. झारखंड से बहुत से प्रतिनिधि दिल्ली गए हुए भी है. हम सभी दुकानदार भी इसी के विरोध में आज बैंक मोड़ जेपी चौक में जमा हुए.

वहीं, एसबीआई को छोड़ सभी बैंक कर्मियों ने भी सरकार की गलत निति के खलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया और केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहां की कि सरकार जल्द ही हमारी जो मांग है उस पर पहल नहीं की तो आगे हम लोग पुरजोर आंदोलन करेंगे साथी चक्का जाम करने के लिए भी हम लोग बादलों में बाध्य होंगे.