close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय का बढ़ा कद, केंद्र में मिली बड़ी जिम्मेदारी

मोदी कैबिनेट में कई नए चेहरे शामिल किए गए हैं. जिसमें बिहार के नित्यानंद राय भी नए चेहरे हैं.

बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय का बढ़ा कद, केंद्र में मिली बड़ी जिम्मेदारी
नित्यानंद राय मोदी कैबिनेट में शामिल किए गए हैं.

नई दिल्लीः मोदी सरकार का दूसरा कार्यकाल शुरू हो गया है. नरेंद्र मोदी ने गुरुवार शाम को प्रधानमंत्री पद और गोपनीयता शपथ ली. अब केंद्रीय मंत्रिमंडल के मंत्रियों को मंत्रालय सौंप दिया गया है. मोदी मंत्रिमंडल में कई नए चेहरे शामिल किए गए हैं. हालांकि, कई मंत्रियों की जिम्मेदारी में बदलाव नहीं किया गया है. बिहार से छह सांसद मंत्रिमंडल में शामिल किए गए हैं. जिसमें सबसे नया चेहरा नित्यानंद राय का है.

बिहार से रविशंकर प्रसाद, गिरिराज सिंह और रामविलास पासवान को केंद्रीय मंत्रालय सौंपा गया है. जबकि आरके सिंह, नित्यानंद राय और अश्विनी चौबे को केंद्रीय राज्यमंत्री बनाया गया है.

बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने उजियारपुर लोकसभा सीट से फिर से सांसद बने हैं. उजियारपुर से दोबारा सांसद बनने के बाद नित्यानंद राय के कद और बढ़ाया गया है. उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. हालांकि, 2014 में भी वह उजियारपुर सीट से सांसद बने थे लेकिन तब उन्हें मंत्री पद नहीं दिया गया था.

नित्यानंद राय ने उजियारपुर से आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को शिकस्त दी है. शायद इस वजह से भी उन्हें यह तोहफा दिया गया है. हालांकि, नित्यानंद राय बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जातें है. शायद इसलिए उन्हें गृह राज्यमंत्री बनाया गया है. आपको बता दें कि नई मोदी सरकार में अमित शाह गृहमंत्री पद को संभालेंगे.

नित्यानंद राय बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं. इसके साथ ही वह सांसद भी है. और अब मंत्री पद को भी संभालेंगे. मंत्री पद मिलने के बाद यह साफ है कि उनका कद काफी बढ़ा है.

आपको बता दें कि नित्यानंद राय का राजनीतिक सफर काफी लंबा है. वह एबीवीपी के कार्यकर्ता के रूप में अपना राजनीतिक सफर शुरू किया था. जिसके बाद वह बीजेपी पार्टी के कई पदों से होते हुए प्रदेश अध्यक्ष पद को हासिल किया है. उनकी नेतृत्व क्षमता को देखते हुए उन्हें पहले 1999 में युवा मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया. जिसके बाद वह 2000 में पहली बार हाजीपुर सीट से विधायक बनने में सफल हुए.

राय ने हाजीपुर से लगातार 4 बार विधानसभा चुनाव जीता. वहीं, 2014 में उजियारपुर लोकसभा सीट से सांसद बनने में सफल रहे. 2019 के लोकसभा चुनाव में भी वह इसी सीट से उपेंद्र कुशवाहा को हराने में कामयाब रहे.