close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंडः जमीन विवाद में भाई ने की भाई की हत्या, 3 लाख में किया मौत का सौदा

तीन लाख रुपये में चरकू उरांव की हत्या का सौदा किया और एडवांस के तौर पर 20 हजार रुपया शूटर को दिया था. हत्या करनेवाले शूटर खूंटी के रहनेवाले थे.

झारखंडः जमीन विवाद में भाई ने की भाई की हत्या, 3 लाख में किया मौत का सौदा
जमीन विवाद में भाई ने भाई की हत्या की साजिश रची.

रांचीः जमीन विवाद में हत्या और अपराध लगातार बढ़ रहा है. झारखंड में जमीन विवाद में हत्या लगातार हो रहा है. ऐसा ही मामला रांची में सामने आया है. जहां एक भाई ने दूसरे भाई की हत्या जमीन विवाद में कर दी. जमीन के लालच में भाई ने ही हत्या की साजिश रची.

मृतक चरकू उरांव का अपने चाचा कुल्हू उरांव के साथ 10 एकड़ जमीन के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था. चरकू उरांव जमीन संबंधी मुकदमे में दौड़ धूप करता था, जिससे उनके चाचा के परिवार के लोग काफी आक्रोशित रहते थे. इसी ज़मीन की लालच में शूटर को सुपाड़ी दी गयी.

तीन लाख रुपये में तय हुआ था मौत का सौदा
इसी क्रम में मृतक के चाचा कुल्हू उरांव ने तीन लाख रुपये में चरकू उरांव की हत्या का सौदा किया और एडवांस के तौर पर 20 हजार रुपया शूटर को दिया था. हत्या करनेवाले शूटर खूंटी के रहनेवाले थे. शूटर को राहुल नाम के युवक ने हथियार उपलब्ध कराया जो फरार चल रहा है.

19 जुलाई की रात बुंडू थाना क्षेत्र में हुई हत्या का खुलासा  
बुंडू निवासी चरकू उरांव की गोली मार कर हत्या करने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर लिया. पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि 10 एकड़ जमीन हड़पने के लिए चरकू उरांव की हत्या कि साजिश उसके चाचा कल्हू उरांव ने रची थी. इस मामले में एक महिला सहित सात लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया, जिनमें दो अपराधी नाबालिग हैं. गिरफ्तार अपराधी में राजेंद्र उरांव, शनि कच्छप, शिवा कुमार और कुल्हू उरांव शामिल हैं. पुलिस ने गिरफ्तार अपराधियों के पास से दो पिस्टल, देसी कट्टा, 9 गोली और 6 मोबाइल फोन बरामद किया.

घर के सामने गोली मार कर की गयी हत्या
19 जुलाई की रात बुंडू थाना क्षेत्र के ताऊमोड़ स्थित चरकू उरांव के घर बाइक पर सवार होकर आये अपराधियों ने चरकू उरांव की गोली मार कर हत्या कर दी. कांड के अनुसंधान एवं छापेमारी के लिए वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया. अनुसंधान के क्रम में घटना में शामिल अभियुक्त राजेंद्र उरांव, शनि कच्छप, शिवा कुमार और कुल्हू उरांव को गिरफ्तार किया गया. उनकी निशानदेही पर कांड में उपयोग किये गये हथियार और गोली भी बरामद की गयी. इस हत्याकांड में दो नाबालिग और एक महिला भी शामिल थी.