close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बांका में बच्चों को मीड डे मिल में परोसे जा रहे हैं गंदे चावल, कई बच्चे बीमार

बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र के बाजा गांव स्थित नव प्राथमिक विद्यालय शीतलपुर में घटिया चावल से बनी मीड डे मिल खाने से कई बच्चे बीमार हो गए.

बांका में बच्चों को मीड डे मिल में परोसे जा रहे हैं गंदे चावल, कई बच्चे बीमार
मीड डे मिल में घटिया चावल परोसा जा रहा है. (प्रतीकात्मक फोटो)

बांकाः बिहार के बांका जिले के अमरपुर थाना क्षेत्र के बाजा गांव स्थित नव प्राथमिक विद्यालय शीतलपुर में घटिया व बदबुदार चावल से बनी मीड डे मिल खाने से कई बच्चे बीमार हो गए. वहीं, इस घटना के बाद सैकड़ों की संख्या में अभिभावक व छात्रों ने विद्यालय में जमकर बवाल काटा. जिससे विद्यालय में घंटो अफरा तफरी मची रही.

घटना की सूचना मिलते ही पंचायत के सरपंच राकेश साह विधालय पहुंचकर वस्तु स्थिती से अवगत होते हुए अभिभावकों एवं छात्र छात्राओं को शांत कराया.

मौके पर अभिभावकों ने प्रधानाध्यापक तिलोतमा देवी के द्वारा बच्चों को खाने के मेनू के अनुसार मीड डे मिल नहीं देने का आरोप लगाया. ग्रामीण अरूण यादव कैलाश साह, संतोष मांझी, किशन कुमार, अमृत कुमार, अमलेश कुमार समेत अन्य लोगों ने बताया कि प्रधानाध्यापक जान बुझकर मीड डे मिल का चावल पहुंचाने वाले से घटिया चावल लिया जाता है. ताकि बच्चे भोजन नहीं करें.

चावल इतना घटिया है कि इससे बदबू निकलता है, और पिछले दो दिनों से यहीं घटिया चावल बच्चों के बीच परोसा जा रहा था. इस वजह से कई बच्चे बीमार हो गये. बच्चों ने इसकी शिकायत अपने-अपने अभिभावकों से किया. बच्चों की शिकायत पर अभिभावक विद्यालय पहुंचकर जांच किया तो बच्चों के द्वारा किये गये शिकायत सही पाया गया.

अभिभावकों ने जब प्रधानाध्यापक से मीड डे मिल में अच्छी चावल खिलाने की बात कही तो प्रधानाध्यापक अभिभावकों के साथ ही डांट-फटकार करने लगी. रसोइया मीना देवी एवं सुनीता देवी ने भी बताया कि विद्यालय में बढ़िया चावल भी पड़ा हुआ है. लेकिन प्रधानाध्यापक द्वारा घटिया चावल ही बनवाया जाता है.

गौरतलब है कि विद्यालय में मात्र दो शिक्षक ही पदस्थापित हैं. ऐसे में शिक्षा विभाग के द्वारा छात्रों को गुणवत्ता पुर्ण शिक्षा देने का वायदा हवा हवाई साबित हो रही है. साथ ही मध्याहन भोजन में भी गड़बड़ी की जा रही है.