रांची: EC की टीम ने अधिकारियों के साथ की बैठक, जल्द हो सकती है तारीख की घोषणा

झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय चौबे ने कहा कि इलेक्शन कमिशन की टीम ने हर एक चीज की बारीकी से जानकारी लिया है. साथ ही सभी अधिकारियों निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी चुनाव संपन्न कराने में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें.

रांची: EC की टीम ने अधिकारियों के साथ की बैठक, जल्द हो सकती है तारीख की घोषणा
झारखंड के राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों के साथ-साथ आला अधिकारियों से पूरा ब्यौरा लिया.

रांची: झारखंड में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करने दो दिवसीय दौरे पर पहुंची. चुनाव आयोग की 5 सदस्यीय टीम ने झारखंड के राजनीतिक दल  के प्रतिनिधियों के साथ-साथ आला अधिकारियों से पूरा ब्यौरा लिया ओर आज ही टीम वापस लौट जाएगी.

झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय चौबे ने कहा कि इलेक्शन कमिशन की टीम ने हर एक चीज की बारीकी से जानकारी लिया है. साथ ही सभी अधिकारियों निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी चुनाव संपन्न कराने में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि इसे लेकर साफ तौर पर इलेक्शन कमिशन की टीम ने कहा कि सभी अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि वह निष्पक्ष रूप से चुनाव संपन्न कराएं ताकि उन पर किसी तरह का कोई पक्षपात करने का आरोप न लग सके.

गुरुवार और शुक्रवार को 2 दिनों तक लगातार हुए इलेक्शन कमीशन की टीम के साथ मैराथन बैठक के बाद चौबे ने कहा कि बैठक में सभी 24 जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, जोनल आईजी प्रमंडल आयुक्त सबसे क्षेत्रवार विस्तृत चर्चा हुई. 

उन्होंने बताया कि बैठक में अधिकारियों से उनकी तैयारियों के बारे में जानकारी ली गई साथ ही उन्होंने अपने अपने मुद्दे रखे साथ ही सुरक्षा के प्लान के बारे में भी जानकारी ली उन्होंने कहा सभी अधिकारियों को एक बार फिर से प्लान करने के का निर्देश दिया है, वोटरों की जागरूक करने के साथ-साथ बूथों को अगर कहीं शिफ्ट करना है उस पर भी ध्यान देने और युवा मतदाताओं को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करने को लेकर टास्क दिए गए. 

चुनाव आयोग की टीम ने अधिकारियों से कहा कि विशेष तौर पर शांति और स्वतंत्रता पूर्वक चुनाव कराना हमारी प्राथमिकता है. खास तौर पर इस विजिट में सुरक्षा पर चर्चा हुई कितने सुरक्षा कर्मियों की जरूरत होगी इस पर भी चर्चा हुई. आईजी मुरारी लाल मीणा ने कहा कि आज की बैठक में आगामी चुनाव में सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई जिसमें खासकर नक्सल प्रभावित इलाकों में चुनाव कराना, पुलिसकर्मियों के लिए चुनौती होती है.

उस पर विशेष रूप से चर्चा हुई किस तरह से उन इलाकों में शांतिपूर्वक चुनाव हो इस पर जोड़ दिया गया. जिस तरह से हमलोगों ने लोकसभा चुनाव शांतिपूर्वक करवाया उसी तरह यह चुनाव भी शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो ये प्राथमिकता रहेगी.

हालांकि चुनाव आयोग की टीम में मैराथन बैठकों का दौर जारी कर राज्य के चुनाव की तैयारियों का जायजा ले लिया है. उम्मीद जताया जा रहा है कि टीम के दिल्ली लौटने के बाद जल्द से जल्द चुनाव के तारीखों की घोषणा कर दी जाएगी.