गुमला: जंगली हाथियों ने गांव पर किया हमला, सड़क पर आए 10 से अधिक घरों के लोग

झारखंड के गुमला के जेरागी गांव मेंअचानक जंगली हाथियों के झुंड ने गांव पर धावा बोल दिया है. हाथियों के झुंड ने उनके घरों को ध्वस्त कर दिया और घर में रखा राशन-पानी तक खा गए. 

गुमला: जंगली हाथियों ने गांव पर किया हमला, सड़क पर आए 10 से अधिक घरों के लोग
जंगली हाथियों का ये झुंड खेतों में लगी फसल को भी बर्बाद करने में लगे हैं.

गुमला: झारखंड में आए दिन जंगली हाथियों के गांव में घुस आने के मामले सामने आते हैं. ये ना सिर्फ ग्रामीणों को परेशान करते हैं बल्कि उन्हें नुकसान भी पहुंचाते हैं. झारखंड के गुमला के जेरागी गांव मेंअचानक जंगली हाथियों के झुंड ने गांव पर धावा बोल दिया है. हाथियों के झुंड ने उनके घरों को ध्वस्त कर दिया और घर में रखा राशन-पानी तक खा गए. इतना ही नहीं जंगली हाथियों का ये झुंड खेतों में लगी फसल को भी बर्बाद करने में लगे हैं.

जिसकी वजह से कई लोगों के पास रहने के लिए घर नहीं है. तो कई किसान दाने-दाने के मोहताज हो चुके हैं. लेकिन जंगली हाथियों के आतंक से बचाने के लिए किसी के पास कोई रास्ता नहीं है. अब तक कई लोगों की हाथियों ने जान तक ले ली है. बावजूद इसके वन विभाग कुछ करने को तैयार नहीं है. 

 

डुमरी प्रखंड के जेरागी गांव के रहने वाले किसान शंकर सिंह ने बताया कि अचानक से गांव में जगंली हाथियों का झुंड आ धमका और उसने गांव में घुसते ही तबाही मचानी शुरु कर दी. लोगों के घर को तोड़ना शुरु कर दिया और देखते ही देखते आठ से दस घरों को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया. 

हाथियों का आतंक यहीं नहीं रुका. हाथियों का झुंड उनके खेतों में पहुंच गया और खेतों में लगी फसल को भी बर्बाद करने लगे. जिसके बाद उन लोगों ने हाथियों के तांडव की जानकारी वन विभाग को दी. लेकिन हाथियों से उन्हे बचाने के लिए वन विभाग की तरफ से कोई नहीं आया.

गांव के और भी ग्रामीण बताते हैं कि यूं तो आबादी में जंगली हाथी अक्सर ही घुस जाया करते हैं लेकिन पिछले 2 सालों से उनके आने का सिलसिला कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है. अब तक कई लोगों की हाथियों ने जान भी ले ली है. जिसकी वजह से अब ग्रामीण रात भर जाग-जाग कर पहरा दे रहे हैं ताकि कम से कम लोगों की जान बचाई जाए.
Taskeen Salmanoor, News Desk