गिरिराज सिंह ने NRC को बताया भारत की मांग, बोले- 'एक देश, एक नागरिकता देश की पहचान'

इससे पहले भी केंद्रीय मंत्री सिंह लगातार एनआरसी के पक्ष में मुखर रहे हैं. सिंह ने कुछ दिन पहले ही ट्वीट किया था कि पश्चिम बंगाल और बिहार में एनआरसी की जरूरत है. 

गिरिराज सिंह ने NRC को बताया भारत की मांग, बोले- 'एक देश, एक नागरिकता देश की पहचान'
एनआरसी पर गिरिराज सिंह का बयान. (फाइल फोटो)

पटना: भारतीय जनता पार्टी (BJP) राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लेकर किसी भी हाल में पीछे हटने को तैयार नहीं दिख रही है. पार्टी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने शुक्रवार को एकबार फिर एनआरसी को देश के लिए आवश्यक बताया है. उन्होंने इसे पूरे भारत की मांग बताई है. बिहार के बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने अपने ट्वीट में लिखा, 'एक देश एक कानून और एक नागरिकता, यही है हिंदुस्तान की पहचान. एनआरसी है हिंदुस्तान की मांग.'

इससे पहले भी केंद्रीय मंत्री सिंह लगातार एनआरसी के पक्ष में मुखर रहे हैं. सिंह ने कुछ दिन पहले ही ट्वीट किया था कि पश्चिम बंगाल और बिहार में एनआरसी की जरूरत है. 

उन्होंने लिखा था, "पश्चिम बंगाल बिहार में एनआरसी की जरूरत, बिहार में एनआरसी की जरूरत, बाहरी लोगों को छोड़ना होगा देश. जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू हो. अपने संस्कार व संस्कृति को सहेजने की जरूरत." 

आपको बता दें कि बीते गुरुवार को जनता दल यूनाइटेड (JDU) के उपाध्यक्ष और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एनआरसी के मुद्दे पर बिना किसी का नाम लिए बीजेपी पर निशाना साधा था. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, '15 से अधिक राज्यों में गैर-भाजपाई मुख्यमंत्री हैं और ये ऐसे राज्य हैं, जहां देश की 55 फीसदी से अधिक जनसंख्या है.' 

उन्होंने सवालिया लहजे में कहा, 'आश्चर्य यह है कि उनमें से कितने लोगों से एनआरसी पर विमर्श किया गया और कितने अपने-अपने राज्यों में इसे लागू करने के लिए तैयार हैं.'

(IANS इनपुट के साथ)