JDU को भरोसा- '2020 विधानसभा चुनाव के परिणाम पर नहीं होगा उपचुनाव का असर'

जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि विपक्ष का जो दुष्प्रचार था उसको निष्प्रभावित करने में कहीं न कहीं चूक हुई है, लेकिन नतीजों के अध्ययन से जो तथ्य सामने आएंगे उस हिसाब से एनडीए आगे का निर्णय लेगी.

JDU को भरोसा- '2020 विधानसभा चुनाव के परिणाम पर नहीं होगा उपचुनाव का असर'
समस्तीपुर में लोकसभा उपचुनाव के लिए प्रचार के दौरान एनडीए के नेता. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में पांच विधानसभा और समस्तीपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव हुए. इनमें से दो पर राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को जीत मिली वहीं, जनता दल युनाइटेड (JDU) को महज एक सीट से संतोष करना पड़ा. दोनों पार्टी चार-चार सीटों पर चुनाव लड़ रही थी. जेडीयू के लिए चुनाव परिणाम निराशाजनक है. हालांकि जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन (Rajeev Ranjan) का का मानना है कि आगामी विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में इन नतीजों का असर नहीं दिखेगा. उनका कहना है कि उपचुनाव के नतीजे स्थानीय परिस्थितियां और उम्मीदवारों के चयन पर निर्भर करता है.

जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि विपक्ष का जो दुष्प्रचार था उसको निष्प्रभावित करने में कहीं न कहीं चूक हुई है, लेकिन नतीजों के अध्ययन से जो तथ्य सामने आएंगे उस हिसाब से एनडीए आगे का निर्णय लेगी.

साथ ही उन्होंने इस दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव में अहंकार दिख रहा है. एक-दो चुनाव परिणाम से इतने उत्साहित दिख रहे हैं, लेकिन लोकसभा में बिहार की जनता नें जीरो पकड़ा दिया था. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव से अच्छी कांग्रेस पार्टी है, जिसे जनता ने अहमयित दिया. कम से कम एक सीट पर तो जीत दिलाया.

वहीं, उन्होंने किशनगंज में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) की जीत पर कहा कि यह कांग्रेस और आरजेडी के लिए चिंता की बात है. एमवाई समीकरण के नाम पर उन्होंने एक समुदाय को ठगने का काम किया है. किशनगंज में AIMIM की जीत का मतलब है 70 प्रतिशत मुस्लिम मतदाता.