झारखंड : कोडरमा में अब प्राइवेट हॉस्पिटल में भी मिलने लगा 'आयुष्भान भारत' का लाभ

कोडरमा के सरकारी अस्पतालों के अलावे अब प्राइवेट हॉस्पिटल में भी आयुष्मान भारत योजना का लाभ लोगों को मिलने लगा है.

झारखंड : कोडरमा में अब प्राइवेट हॉस्पिटल में भी मिलने लगा 'आयुष्भान भारत' का लाभ
12 निजी अस्पतालों को इसके लिए रजिस्टर किया गया है.

कोडरमा : आयुष्मान भारत योजना को लेकर कोडरमा के निजी क्लीनिक भी अब तैयार हो गए हैं. 12 निजी क्लीनिक को आयुष्मान भारत योजना के लिए रजिस्टर किया गया है. योजना का लाभ दिलाने के लिए अलग से व्यवस्थाएं भी की गई हैं.

गिरिडीह जिला के राजधनवार के रहने वाले सुरेश तिर्की की पत्नी विमला बीमार हैं. राजधनवार जैसे इलाकों में कई डॉक्टरों को दिखाने के बाद उन्हें कोडरमा के सबसे बड़े आर्यन अस्पताल में जाने की लोगों ने सलाह दी. पत्नी के इलाज के लिए 15 से 20 हजार रुपए का खर्च भी बताया गया. कोडरमा के इस प्राइवेट हॉस्पिटल पहुंचने पर सुरेश को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ मिला और नि:शुल्क उसकी पत्नी सफल ऑपरेशन किया गया.

कोडरमा के सरकारी अस्पतालों के अलावे अब प्राइवेट हॉस्पिटल में भी आयुष्मान भारत योजना का लाभ लोगों को मिलने लगा है. 12 निजी अस्पतालों को इसके लिए रजिस्टर किया गया है. इन अस्पतालों में भी अब लोगों को लाभ मिल रहा है. डॉक्टर भी मानते हैं कि इस योजना के बाद पैसे के डर से इलाज नहीं कराने वाले लोगों में बदलाव आया है.

यहां आयुष्मान भारत योजना की जानकारी देने के लिए अलग से काउंटर भी बनाए गए हैं. सारी कागजी प्रक्रिया काउंटर पर पूरी ही की जाती है. एक महीना के अंदर कोडरमा के सदर अस्पताल में 51 लोगों का जबकि निजी अस्पतालों में 11 लोगों को इस योजना का लाभ मिल चुका है. सिविल सर्जन हिमांशु भूषण का कहना है कि आयुष्मान भारत योजना को प्रभावी ढंग से लागु करने के लिए सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पताल भी तैयार हैं.