लूप में चल रहे शाहनवाज को MLC कैंडिडेट बनाए जाने पर बोली RJD- उनका राजनीतिक सन्यास अब टूटा

वही, बीजेपी के पूर्व राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने कहा कि शाहनवाज पर यह एक सुखद समाचार है. वह एक समर्पित कार्यकर्ता हैं. भाई शाहनवाज़ के विधान परिषद के लिये मनोनयन का हार्दिक स्वागत है.

लूप में चल रहे शाहनवाज को MLC कैंडिडेट बनाए जाने पर बोली RJD- उनका राजनीतिक सन्यास अब टूटा
लूप में चल रहे शाहनवाज को MLC कैंडिडेट बनाए जाने पर बोली RJD- उनका राजनीतिक सन्यास अब टूटा.

पटना:  बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन (Shahnawaz Hussain) बिहार से विधान परिषद (Bihar Vidhan Parishad) के लिए उम्मीदवार होंगे. बीजेपी प्रवक्ता और मीडिया सह प्रभारी संजय मयूख ने कहा कि शाहनवाज हुसैन बीजेपी (BJP) की तरफ से विधान परिषद के उम्मीदवार होंगे. बता दें कि बिहार के सुपौल में जन्में शाहनवाज हुसैन बीजेपी के कद्दावर नेताओं में शुमार हैं. शाहनवाज हुसैन और मुख्तार अब्बास नकवी की पहचान बीजेपी के बड़े और कद्दावर नेताओं के तौर पर होती है.
 
शाहनवाज हुसैन को एमएलसी बनाये जाने के मामले पर कांग्रेस नेता आनंद माधव ने कहा कि निश्चित रूप से ये शाहनवाज हुसैन का डिमोशन है. हालांकि शाहनवाज हुसैन को एमएलसी बनाकर बीजेपी ने बिहार में जेडीयू को साधने की कोशिश की है, क्योंकि जेडीयू का कोई मुस्लिम चेहरा एमएलए नहीं है.

वही इस मामले पर आरएलएसपी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव ने कहा कि शाहनवाज सबसे युवा चेहरे में से एक थे लेकिन लगातार उनकी उपेक्षा हो रही थी. देर से ही सही सही दिशा में उठाया कदम है. मंत्री बनते है तो अच्छा संकेत है.

बीजेपी प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि प्रमोशन या डिमोशन की बात नहीं है. शाहनवाज हुसैन को एमएलसी बनाने का फायदा बिहार को मिलेगा. बंगाल चुनाव में भी इसका असर दिखेगा. शाहनवाज हुसैन ने जम्मू कश्मीर के निकाय चुनाव में बेहतरीन परिणाम दिया है. उम्मीद है बिहार में भी उनके एमएलसी बनने का बेहतर असर दिखेगा.

इस मामले पर आरजेडी नेता विजय प्रकाश ने कहा कि शाहनवाज पहले बीजेपी में मुंशी किरानी के रूप में काम कर रहे थे. अब चपरासी की भूमिका में रहेंगे. ये मोदी जी के ट्रैक पर खड़े नहीं उतरते इसलिए उन्हें बिहार भेज दिया गया. शाहनवाज का राजनीतिक सन्यास टूट गया है.

जेडीयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा कि शाहनवाज हुसैन में केंद्रीय मंत्री और सांसद रहते देश की सेवा की है. अब बीजेपी ने उन्हें एमएलसी बनाने का फैसला लिया है. ये पार्टी के अंदर का मामला है. विपक्ष को इसमे भी राजनीति सूझ रही है. तेजश्वी तेजप्रताप तो छुट्टी पर ही रहते हैं. जब जनता को उनकी जरूरत रहती है तो गायब रहते हैं. दूसरे पर सवाल उठाने से पहले खुद के अंदर झांकना चाहिए.

वही, बीजेपी के पूर्व राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने कहा कि शाहनवाज पर यह एक सुखद समाचार है. वह एक समर्पित कार्यकर्ता हैं. भाई शाहनवाज़ के विधान परिषद के लिये मनोनयन का हार्दिक स्वागत है.