close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अधिकारियों के तबादले पर RJD का हमला, CM नीतीश को ठहराया जलजमाव का जिम्मेदार

शिवानंद तिवारी ने पूछा है कि मुख्यमंत्री हर विभाग की समीक्षा करते हैं. क्या बारिश से पहले मुख्यमंत्री ने जलजमाव की समीक्षा नहीं की? क्या समीक्षा बैठक में अधिकारी मौजूद नहीं थे?

अधिकारियों के तबादले पर RJD का हमला, CM नीतीश को ठहराया जलजमाव का जिम्मेदार
शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार को दोषाी ठहराया है.

पटना: बिहार की राजधानी पटना में भारि बारिश से हुई जलजमाव की स्थिति के बाद सरकार कार्रवाई पर कार्रवाई कर रही है. कई अधिकारियों का तबादला कर दिया गया. अधिकारियों के तबादले पर मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने मुख्यमंत्री नीतीश पर निशाना साधा है. आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि पूरी घटना के लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं.

शिवानंद तिवारी ने पूछा है कि मुख्यमंत्री हर विभाग की समीक्षा करते हैं. क्या बारिश से पहले मुख्यमंत्री ने जलजमाव की समीक्षा नहीं की? क्या समीक्षा बैठक में अधिकारी मौजूद नहीं थे?

आरजेडी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि बड़े अधिकारियों को दंडितत नहीं, बल्कि उन्हें बड़े पद से नवाजा गया है. छोटे स्तर के कर्मचारियों को निशाना बनाया गया है, जिन्होंने बारिश के बीच काम किया है. यह लोगों के 'आंखों में धूल झोंकने' की कोशिश है. शिवानंद तिवारी ने आरोप लगाया कि जिन्हें दंड मिलना चाहिए था, उन्हें एक तरह से छोड़ दिया गया है.

ज्ञात हो कि बिहार की राजधानी पटना में भारी बारिश के बाद बनी जलजमाव की स्थिति और निकासी में हुई देरी पर सरकार की कार्रवाई जारी है. नगर विकास और आवास विभाग प्रधान सचिव और बुडको (BUIDCO) के एमडी गाज गिरी है. दोनों अधिकारियों को पद से हटा दिया गया है. वहीं, पटना के कमिश्नर आनन्द किशोर के काम से खुश होकर सरकार ने उन्हें अतिरिक्त प्रभार दिए हैं. सरकार ने कुल सात आईएस अधिकारियों का तबादला किया है.

नगर विकास और आवास प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद बुडको के एमडी अमरेंद्र सिंह गाज गिरी है. आनंद किशोर को नगर विकास और आवास विभाग का सचिव बनाया गया है. वहीं, पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एमडी का प्रभार भी मिला है. चैतन्य प्रसाद को विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है. साथ ही साथ संसदीय कार्य के प्रधान सचिव का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.