close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लालू यादव और राहुल की मुलाकात पर संशय बरकरार, RJD ने कहा- 'मिल लेते तो अच्छा होता'

रांची में लालू प्रसाद यादव और राहुल गांधी की मुलाकात पर संशय बरकरार है. 

लालू यादव और राहुल की मुलाकात पर संशय बरकरार, RJD  ने कहा- 'मिल लेते तो अच्छा होता'
राहुल गांधी और लालू यादव के मुलाकात के कयास लगाए जा रहे हैं. (फाइल फोटो)

पटनाः रांची में लालू प्रसाद यादव और राहुल गांधी की मुलाकात पर संशय बरकरार है. बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इस बात के संकेत दिए हैं. मदन मोहन झा ने ये कहकर आरजेडी की मुश्किलें बढ़ा दी है कि राहुल गांधी रैली के लिए आ रहे हैं. अभी तक लालू प्रसाद से मुकालात का मामला तय नहीं हुआ है. हांलाकि आरजेडी ने लालू यादव और राहुल गांधी की मुलाकात को लेकर इच्छा जरुर जाहिर की है. वहीं, जेडीयू ने कुमार आशीष का उदाहरण देते हुए लालू प्रसाद से अपनी दागी नीति स्पष्ट करने की चुनौती दी है.

2 मार्च को राहुल गांधी कांग्रेस की रैली में शामिल होने रांची पहुंच रहे हैं. खासबात ये है कि 2 मार्च शनिवार का दिन है और उस दिन लालू प्रसाद को जेल मैन्युअल के मुताबिक तीन लोगों से मुलाकात की अनुमति होगी. बडे सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या राहुल रांची में सजायाफ्ता लालू से मिलने पहुंचेगें. लेकिन इस मुलाकात पर संशय के बादल दिखने लगे हैं. बिहार कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इसबात के संकेत दिये हैं.

मदन मोहन झा ने कहा है कि पूरे देश में राहुल गांधी की रैली हो रही है. उसी क्रम में रांची में भी उनकी रैली होगी. अभी तक की सूचना के मुताबिक राहुल गांधी रैली के लिए रांची पहुंच रहे हैं. लालू प्रसाद से मुलाकात का कार्यक्रम अभी तय नहीं है. राहुल गांधी लालू प्रसाद से मिलेंगे या नहीं मिलेंगे ये उनकी व्यक्तिगत इच्छा पर निर्भर करेगा.

बिहार कांग्रेस अध्यक्ष के बयान के बाद राहुल और लालू की मुलाकात को लेकर तस्वीर अभी तक स्पष्ट नहीं हैं. लेकिन आरजेडी के नेता ये चाहते हैं कि राहुल और लालू की मुलाकात जेल में हो. पार्टी के सीनियर लीडर अब्दुलबारी सिद्दिकी ने कहा है कि लालू प्रसाद और राहुल गांधी की मुलाकात रांची में हो जाती है तो ये बेहतर होगा. हांलाकि सिद्दिकी भी ये कहते हैं कि राहुल गांधी के कार्यक्रम को लेकर आरजेडी के पास कोई सूचना उपलब्ध नहीं है. आरजेडी नेता ने कहा है कि कांग्रेस के नेता राहुल गांधी से समय-समय पर मुलाकात की है. सभी यहीं चाहते हैं कि लालू जल्द जेल से बाहर आएं.

ऐसा नहीं है कि लालू और राहुल की मुलाकात पर नजर केवल कांग्रेस और आरजेडी नेताओं को ही है. लालू और राहुल की मुलाकात पर नजर एनडीए के नेताओं की भी है. जेडीयू ने इस सियासी मुलाकात पर बडा सवाल भी खडा किया है. प्रवक्ता नीरज कुमार ने राहुल गांधी के दागी नीति पर सवाल खडे किये हैं. नीरज कुमार ने कहा है कि कुमार आशीष पर दागी होने का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने उन्हें संगठन की जिम्मेवारी से मुक्त कर दिया. ऐसे में सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या राहुल गांधी दागी लालू से मिलने रांची जेल जाएंगे. राहुल गांधी को अपनी दागी नीति को लेकर जनता के सामने अपनी नीति स्पष्ट करनी चाहिए.