close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RJD की समीक्षा बैठक में हुआ फैसला, विधानसभा चुनाव तक तेजस्वी यादव करते रहेंगे नेतृत्व

हार की समीक्षा के लिए मंगलवार को आरजेडी के उम्मीदवारों की बैठक बुलाई गई. पार्टी की समीक्षा बैठक में हार पर चर्चा कम और तेजस्वी यादव पर भरोसा जताए रखने की जद्दोजहद ज्यादा दिखी.

RJD की समीक्षा बैठक में हुआ फैसला, विधानसभा चुनाव तक तेजस्वी यादव करते रहेंगे नेतृत्व
आरजेडी की समीक्षा बैठक में हुआ फैसला. (फाइल फोटो)

पटना : तेजस्वी यादव 2020 विधानसभा चुनाव तक राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) का नेतृत्व करते रहेंगे. पार्टी की ओर से हार के कारणों की समीक्षा के लिए बुलाई गयी लोकसभा उम्मीदवारों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक में यह फैसला हुआ है. बैठक में पार्टी के नेताओं ने हार के पीछे बड़े षड्यंत्र को जिम्मेवार ठहराया. साथ ही षड्यंत्र के खुलासे के लिए पार्टी ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी भी बनाई है, जो एक हफ्ते में अपना रिपोर्ट सौंपेगी.

हार की समीक्षा के लिए मंगलवार को आरजेडी के उम्मीदवारों की बैठक बुलाई गई. पार्टी की समीक्षा बैठक में हार पर चर्चा कम और तेजस्वी यादव पर भरोसा जताए रखने की जद्दोजहद ज्यादा दिखी.

बैठक में चुनाव हार चुके आरजेडी के उम्मीदवार शामिल हुए. दो घंटे चली बैठक में तय हुआ कि तेजस्वी यादव नेता प्रतिपक्ष के पद पर बने रहेंगे. 2020 विधानसभा चुनाव तक तेजस्वी आरजेडी का नेतृत्व करते रहेंगे. चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव के 235 चुनावी सभाओं और उनकी मेहनत के लिए उनका हौसला बढ़ाया गया.

बैठक की जानकारी देते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने कहा कि महागठबंधन इस चुनाव में बड़े षड्यंत्र का शिकार हुई है. चुनाव में हार की जांच के लिए पार्टी ने तीन सदस्यीय कमेटी बनाई है. कमेटी एक हफ्ता में अपना रिपोर्ट सौंपेगी. जगदानंद सिंह ने कहा कि हार की समीक्षा के लिए बुधवार को दो बजे महागठबंधन की बैठक होगी. इसके बाद चार बजे आरजेडी विधानमंडल दल की भी बैठक होगी.

तेजप्रताप यादव की ओर से चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधि के सवाल पर आरजेडी के नेता स्पष्ट जवाब देने से बचते रहे. जगदानंद सिंह ने कहा कि तेजप्रताप का मामला पार्टी का अंदरूनी मामला है और पार्टी इसे अपने स्तर पर देखेगी. जगदनंद सिंह ने कहा कि मीडिया को सिर्फ एक सीट पर हार-जीत का आकलन नहीं करना चाहिए. चुनाव परिणाम को समग्र रूप से देखने की जरूरत है. आरजेडी नेता ने कहा कि महागठबंधन एकजुट है और विधानसभा चुनाव 2020 तक बना रहेगा.

पार्टी की बैठक के बाद आरजेडी अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे ने कहा कि हार की जांच के लिए बनाई गई कमेटी में अब्दुल बारी सिद्दीकि, जगदानंद सिंह और आलोक मेहता शामिल हैं. कमेटि एक हफ्ता में रिपोर्ट देगी. रिपोर्ट के बाद आगे की रणनीति तय होगी.