close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची: बदमाशों के सक्रिय गैंग से लोग परेशान, ऑटो से गायब कर रहे यात्रियों के सामान

रांची में इन दिनों एक ऐसा गैंग सक्रिय है. जो चलती ऑटो से सामान गायब कर देता है और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगती कि कब उनका सामान चोरी हो चुका है. 

रांची: बदमाशों के सक्रिय गैंग से लोग परेशान, ऑटो से गायब कर रहे यात्रियों के सामान
बिजनौर गैंग नाम का ये गिरोह शहर में कई दिनों से सक्रिय है.

रांची: झारखंड की राजधानी रांची में इन दिनों एक ऐसा गैंग सक्रिय है. जो चलती ऑटो से सामान गायब कर देता है और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगती कि कब उनका सामान चोरी हो चुका है. बिजनौर गैंग नाम का ये गिरोह शहर में कई दिनों से सक्रिय है और इन दिनों लगातार वारदातों को अंजाम दे रहा है. 

चलती ऑटो से लगातार सामान गायब हो रहे. जो अब पुलिस के लिए भी एक चुतौती बन चुका है. इस गिरोह की शिकार पंडरा इलाके के दंपत्ति अपने साथ हुई घटना के बारे में बताते हैं कि वो अपने परिवार के साथ स्टेशन जा रहे थे. इसके लिए उन्होंने ऑटो लिया और ऑटो के पीछे अपना सामान रख दिया. 

थोड़ी देर बाद ऑटो में 4 अन्य लोग भी पीछे की तरफ से बैठ गए. उन्होंने भी अपना लगेज पीछे रखा. लेकिन थोड़ी दूरी तय करने के बाद सभी चारों उतर गये. और जब हम सभी स्टेशन पहुंचे और सामान लेने के लिए ऑटो के पीछे गये तो लगेज का लॉक टूटा हुआ था. और जब लगेज को चेक किया तो उनके अंदर रखे गहने, नकद और कपड़े सभी गायब मिले.

घटना के बारे में पीड़ित कौशल कुमार का कहना है कि इस वारदात के पीछे ऑटो ड्राइवर का भी हाथ है. क्योंकि जब वो चार लोग ऑटे से उतरे थे, तो उन्होंने ड्राइवर को किराया नहीं दिया और पीछे से ही उतर कर चले गये. और ड्राइवर ने भी चारों में से किसी से भी पैसा नहीं लिया. ऐसे में इस घटना के पीछे जरुर ऑटो चालक का हाथ हो सकता है. 

बिजनौर गैंग के नाम से मशहूर इस गैंग ने बीते महीने भी एक बुजुर्ग दंपत्ति के बैग से साढ़े 5 लाख के गहने उड़ाया था. जिसकी शिकायत भी कोतवाली थाने में दर्ज कराई गई थी. जिसके बाद पुलिस ने 2 लोगो को गिरफ्तार भी किया था. जिसके बाद ये खुलासा हुआ. 

रांची के एसएसपी का कहना है कि रांची में इनदिनों बिजनौर गैंग इस तरह की वारदात को अंजाम दे रहा है. करीब दर्जन भर अपराधी इस गिरोह के शहर भर में सक्रिय हैं. इन्होंने कुछ ऑटो ड्राइवर को भी कमीशन का लालच देकर गिरोह में शामिल कर लिया है. ऑटो में चोरी करने वाले सभी यूपी के बिजनौर के हैं. जिसे पकड़ने के लिए एसआईटी का भी गठन किया गया है.
Taskeen Salmanoor, News Desk