झारखंड: नाबालिग भगाने के मामले में आरोपी युवक ने नदी में कूदकर की आत्महत्या

जमशेदपुर के कदमा थाना क्षेत्र के आदित्यपुर टोल ब्रिज से रविवार को आशीष कुमार ने खरकई नदी में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी. सोमवार को पुलिस ने उसका शव नदी से बरामद कर लिया है.

झारखंड: नाबालिग भगाने के मामले में आरोपी युवक ने नदी में कूदकर की आत्महत्या
नदी में कूदे युवक का शव बरामद.

जमशेदपुर: झारखंड के जमशेदपुर के कदमा थाना क्षेत्र के आदित्यपुर टोल ब्रिज से रविवार को आशीष कुमार ने खरकई नदी में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी. सोमवार को पुलिस ने उसका शव नदी से बरामद कर लिया है. पुलिस ने 6 स्थानीय गोताखोरों की मदद से और 3 घंटे की कड़ी मशक्कत से बाद मृतक का शव बरामद किया, जिसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

उधर शव बरामद होने की सूचना मिलते हीं मृतक आशीष के पिता मौके पर पहुंचे. पूरे मामले पर मृतक के पिता का कहना है कि उनके छोटे बेटे साहिल ने पड़ोस में रहने वाली एक नाबालिग को 9 जनवरी को उसके घर से भगा लिया था. इसके बाद लड़की के परिवारवालों की तरफ से बर्मामाइंस थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी. उसके बाद से ही पुलिस उनके घर जाकर लगातार उन्हें परेशान कर रही थी और घर वालों की गिरफ्तारी करने की धमकी देकर उन्हें टॉर्चर कर रही थी. 

उस घटना के बाद से जो कुछ भी पुलिस और परिवारवाले कर रहे थे उसकी वजह से आशीष तनाव में रहता था. रविवार को जब आशीष घर से निकला तो इसी मामले को लेकर अपनी मां से बात कर रहा था. उसने मां को बताया भी था कि वो इसको लेकर काफी परेशान है.

वहीं पूरे मामले को लेकर बर्मामाईंस थाना प्रभारी का कहना है कि साहिल के खिलाफ थाने में नाबालिग को भगाने का मामला दर्ज है. इसके लिए उसके माता-पिता को पूछताछ के लिए बुलाया गया था. इसमें टॉर्चर करने वाली कोई बात ही नहीं है. पुलिस सिर्फ अपना काम कर रही थी.
 
आपको बता दें कि रविवार की दोपहर आशीष आदित्यपुर टोल ब्रिज से खरकई नदीं में कुद गया था. पुलिस ने पुल पर खड़े उसकी बाइक से उसकी पहचान की थी.