जींद में दिखा परंपरा और विकास का अद्भुत समागम, घूंघट में महिलाओं ने ली शपथ
topStories0hindi1468683

जींद में दिखा परंपरा और विकास का अद्भुत समागम, घूंघट में महिलाओं ने ली शपथ

जींद में महिला पंचायत प्रतिनिधि घूंघट में शपथ लेने के लिए पहुंची, इस दौरान घूंघट में ही उनका फूल-माला से स्वागत किया गया. विकास कार्यों के बारे में बात करते हुए महिलाओं ने कहा कि उनका घूंघट विकास कार्यों के आड़े नहीं आएगा. 

जींद में दिखा परंपरा और विकास का अद्भुत समागम, घूंघट में महिलाओं ने ली शपथ

राजकुमार गोयल/जींद: आज हरियाणा के सभी 22 जिलों में पंचायती राज संस्थाओं के नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों का शपथ ग्रहण हुआ, जिसमें जींद की महिला पंचायत प्रतिनिधि घूंघट में शपथ लेने के लिए पहुंची. इस दौरान वहां मौजूद सभी लोगों के मन में एक ही सवाल था  कि घूंघट में छिपी हुई ये महिलाएं गांव का विकास कैसे कर पाएंगी. लेकिन गांव के विकास का जज्बा और अपनी संस्कृति की झलक को समेटे इन महिलाओं ने लोगों की बोलती बंद कर दी. 

घूंघट में हुआ महिलाओं का स्वागत
जींद में महिला पंचायत प्रतिनिधि घूंघट में शपथ लेने के लिए पहुंची, इस दौरान घूंघट में ही उनका फूल-माला से स्वागत किया गया और फिर महिला प्रतिनिधियों ने शपथ ग्रहण की. 

ये भी पढ़ें- पंचायती राज संस्थाओं के नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों का शपथ ग्रहण आज, CM मनोहर लाल वर्चुअली होंगे शामिल

घूंघट को बताया अपनी परंपरा 
घूंघट में शपथ लेने पहुंची महिला प्रतिनिधियों ने बताया कि ये हमारी पुरानी परंपरा है, इससे हम मर्यादा रखते हुए बड़े बुजुर्गों के सामने घूंघट रखते हैं. शपथ ग्रहण समारोह में बड़े बुजुर्ग भी शामिल हैं, इसलिए हम महिलाओं ने घूंघट रखा है, लेकिन गांव के विकास में घूंघट आड़े नहीं आएगा.

विकास के मुद्दे पर जमकर बोलीं महिलाएं
घूंघट में शपथ ग्रहण में शामिल हुई महिलाओं से जब गांव के विकास को लेकर बात की गई तो महिलाओं घूंघट उठाकर फर्राटे से जवाब देती नजर आईं. गांव में पानी की समस्या , घर-घर पानी पहुंचाने की व्यवस्था, कच्ची सड़कों को ठीक करवाना, पार्क की सुविधा, एक्सरसाइज के लिए पार्क में मशीनें, शिक्षा व्यवस्था में सुधार, लड़कियों की शिक्षा पर विशेष ध्यान,खिलाडियों के लिए स्टेडियम की व्यवस्था, बारिश के पानी के निकास की व्यवस्था, गांव के तालाब की सफाई और पुरानी पंचायत के अधूरे काम सहित महिलाओं ने उन सभी कामों के बारे में बताया, जो गांव के विकास के लिए बेहद जरूरी हैं.   

Trending news