close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चारधाम यात्रा के दौरान अब तक 37 लोगों की हार्ट अटैक मौत

केदारनाथ धाम में अब तक सर्वाधिक 23 श्रद्धालुओं, यमुनोत्री में 7 गंगोत्री में 4 और बद्रीनाथ में 3 श्रद्धालुओं की हार्ट अटैक से मौत हो चुकी है. 

चारधाम यात्रा के दौरान अब तक 37 लोगों की हार्ट अटैक मौत
बुधवार को 4 लोगों की हार्ट अटैक से मौत हुई.

देहरादून: केदारनाथ और यमुनोत्री दर्शनों को आए तीन श्रद्धालुओं की अलग-अलग स्थानों पर हार्ट अटैक से मौत हो गई. इनमें दो महिला यात्री शामिल हैं. हार्ट अटैक आने से चारधाम यात्रा पर आए अब तक 37 तीर्थ यात्रियों को मौत हार्ट अटैक से हो चुकी है. केदारनाथ धाम में अब तक सर्वाधिक 23 श्रद्धालुओं, यमुनोत्री में 7 गंगोत्री में 4 और बद्रीनाथ में 3 श्रद्धालुओं की हार्ट अटैक से मौत हो चुकी है. 

जानकारी के मुताबिक, बुधवार को केदारनाथ दर्शनों को आईं जबलपुर (मध्य प्रदेश) से 67 साल की कल्पना खरे पत्नी विमल कुमार खरे की अचानक तबीयत बिगड़ गई. कल्पना को तत्काल केदारनाथ स्थित सिक्स सिग्मा हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. वहीं, रोहतक (हरियाणा) निवासी इमरती देवी भी परिजनों के साथ गुप्तकाशी से केदारनाथ जा रही थीं, इसी बीच अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई. परिजनों ने इमरती को तत्काल राजकीय प्राथमिक केंद्र फाटा पहुंचाया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. 

केदारनाथ धाम के यात्रियों को लेकर जा रहा बस ड्राइवर की भी सीतापुर (केदारनाथ के पास) हार्ट अटैक से मौत हो गई. ड्राइवर का नाम कृपाल सिंह बताया जा रहा है, जो टिहरी के रहने वाले थे. वहीं, यमुनोत्री धाम आए जयपुर (राजस्थान) निवासी पूरन मीणा के भी सीने में तेज दर्द की शिकायत की और थोड़ी देर में उनकी मौत हो गई.

लाइव टीवी देखें

परिजन ने बताया कि उन्हें लेकर यमुनोत्री स्थित स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. डॉक्टरों के मुताबिक, हार्टअटैक से उनकी मौत हुई है.