प्रयागराज में पकड़े गए तबलीगी जमात में शामिल होकर लौटे 9 लोग, साथ में ठहरे 28 लोगों को भी क्‍वारंटीन में भेजा

पुलिस ने बताया कि इंडोनेशिया निवासी लोगों के पास टूरिस्ट वीजा है. सात ही सूचना न देने के मामले में मस्जिद के मौलवी पर भी कार्रवाई की जाएगी.

प्रयागराज में पकड़े गए तबलीगी जमात में शामिल होकर लौटे 9 लोग, साथ में ठहरे 28 लोगों को भी क्‍वारंटीन में भेजा

मो गुफरान/प्रयागराज: दिल्ली के निजामुद्दीन के मरकज में शामिल हुए नौ लोगों को प्रयागराज से पकड़ा गया है. सभी लोग प्रयागराज के स्टेशन रोड़ स्थित अब्दुल्ला मरकज में 22 मार्च से रह रहे थे. जानकारी के मुताबिक इनमें 7 लोग इंडोनेशिया के हैं, जबकि एक केरल और एक महाराष्ट्र का रहने वाला है. जो निजामुद्दीन मरकज से 17 मार्च को दिल्ली से निकले और 22 मार्च को प्रयागराज पहुंचे. मंगलवार देर शाम स्थानीय लोगों से मिली सूचना पर पहुंची पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम ने सभी 9 लोगों को एम्बुलेंस के जरिए क्‍वारंटीन के लिए भेजा है. राहत की खबर ये है कि शुरुआती जांच में सभी 9 लोगों में कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं, लेकिन जांच जारी है.
इसके साथ ही 28 और लोगों को भी आइसोलेट किया गया है, ये सभी दिल्ली से लौटे 9 लोगों के साथ रह रहे थे. पुलिस ने बताया कि इंडोनेशिया निवासी लोगों के पास टूरिस्ट वीजा है. साथ ही सूचना न देने के मामले में मस्जिद के मौलवी पर भी कार्रवाई की जाएगी.

लोनी विधायक ने दी तहरीर
दिल्ली के निजामुद्दीन के मरकज में हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम के खिलाफ गाजियाबाद की लोनी विधानसभा सीट से विधायक नंद किशोर गुज्जर ने थाने में तहरीर दी है. उन्होंने इसके लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल और मौलानाओं को  जिम्मेदार ठहराया है. लोनी थाने में दी गई तहरीर में नंद किशोर गुर्जर ने  दिल्ली के मुख्यमंत्री और मौलवियों पर रासुका लगाकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है.

लाइव देखें उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड की खबरें: