CM योगी की लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद, कहा- ‘जॉब सीकर नहीं’, ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनेंगे युवा

उत्तर प्रदेश को स्टार्टअप हब और युवा उद्यमियों की फौज खड़ी करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाप्लान तैयार किया है. सीएम योगी ने विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों के पाठ्यक्रम में स्टार्टअप को नए विषय के तौर पर जोड़ने की योजना बनाई है.

CM योगी की लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद, कहा- ‘जॉब सीकर नहीं’, ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनेंगे युवा
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश को स्टार्टअप हब और युवा उद्यमियों की फौज खड़ी करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाप्लान तैयार किया है. सीएम योगी ने विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों के पाठ्यक्रम में स्टार्टअप को नए विषय के तौर पर जोड़ने की योजना बनाई है. इसी के साथ मुख्यमंत्री ने नौजवानों को ‘जॉब सीकर नहीं’ – ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनाने का लक्ष्य रखा है.

युवा बनेंगे जॉब सीकर नहीं,जॉब प्रोवाइडर
नौजवानों को ‘जॉब सीकर नहीं’ – ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनाने के सीएम योगी के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सरकार एक विशेष योजना पर काम कर रही है. इसके तहत ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट के फाइनल इयर में एक साल की स्टडी लीव देने की प्लानिंग हो रही है.

युवाओं को मिलेगी स्टडी लीव
सरकार की योजना के मुताबिक, स्टडी लीव के दौरान छात्र इंटर्नशिप कर सकेंगे. एक लाख छात्रों को पहले साल में शामिल किया जाएगा, उन्हें इंटर्नशिप के दौरान प्रतिमाह ढाई हजार का भत्ता मिलेगा. इन छात्रों का प्रोजेक्ट वर्क पाठ्यक्रम का हिस्सा भी बनेगा.

लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद
नौजवानों को प्रोत्साहित कर सीएम योगी लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद में जुटे हैं. उन्होंने दस हजार से भी अधिक स्टार्टअप यूपी में स्थापित करने का लक्ष्य रखा है. सिडबी की मदद से योगी सरकार ने कार्पस फंड बनाया है. इसके तहत हर जिले में स्टार्टअप इकाई बनेगी.

ये भी पढ़ें: रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के नाम पर पूर्व मंत्री ने बनाया समझौते का दबाव, लगी पंचायत, लॉकडाउन की भी उड़ी धज्जियां

SIDBI के साथ सरकार का करार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड' में भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) को 15 करोड़ की प्रथम किश्त भी सौंपी है. प्रदेश सरकार और सिडबी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर भी हो चुके हैं.

WATCH LIVE TV: