close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महान दल के अध्यक्ष समर्थकों से बोले, 'कोई पाकिस्तान से आकर लड़े चुनाव तो भी कांग्रेस को वोट देना'

प्रियंका गांधी ने यूपी में पीस पार्टी के साथ ही एनडीए सरकार में मंत्री अनुप्रिया पटेल के अपना दल के लिए भी गठबंधन के रास्ते खुल रखे हैं. 

महान दल के अध्यक्ष समर्थकों से बोले, 'कोई पाकिस्तान से आकर लड़े चुनाव तो भी कांग्रेस को वोट देना'
पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी में एक खास रणनीति के तहत क्षेत्रीय दलों से गठबंधन कर रही हैं. (फोटो-ANI)

मुरादाबाद: पुलवामा हमले को लेकर जहां देशभर में गुस्सा व्याप्त है, वहीं महान दल के अध्यक्ष केशव देव मौर्य ने एक विवादित बयान देकर कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. दरअसल, उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में एक रैली में केशव देव मौर्य ने कहा कि बीजेपी को हराने अगर कोई पाकिस्तान से आकर भी चुनाव लड़ता है तो भी महान दल को कोई एतराज नहीं होगा. उन्होंने कहा कि महान दल के कार्यकर्ताओं को सिर्फ पंजा (कांग्रेस का चुनाव चिन्ह) ही देखना है. इस दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर एवं कई पूर्व कैबिनेट मंत्री भी मंच पर मौजूद थे. 

वोट करते समय केवल देखना हाथ का निशान- केशव देव
कांग्रेस से गठबंधन पर आयोजित की गई आभार रैली में केशव देव मौर्य ने विवादित बयान देते हुए कहा कि प्रत्याशी मत देखना, हाथ का पंजा देख लेना और उसी पर वोट दे देना. उन्होंने कहा कि प्रत्याशी कोई भी हो, अच्छा हो-खराब हो, बीजेपी को हराने के लिए कोई पाकिस्तान से आखर भी लड़ेगा तो महान दल को कोई एतराज नहीं होगा. गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अपनी सियासी जमीन मजबूत करने के लिए क्षत्रप महान दल से गठबंधन किया था.

कांग्रेस यूपी में कर रही है छोटे दलों से गठबंधन
पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी में एक खास रणनीति के तहत क्षेत्रीय दलों से गठबंधन कर रही हैं. इसी क्रम में प्रियंका गांधी ने पीस पार्टी के साथ ही एनडीए सरकार में मंत्री अनुप्रिया पटेल के अपना दल के लिए भी गठबंधन के रास्ते खुल रखे हैं. अनुप्रिया पटेल ने हाल ही में प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात कर कांग्रेस के साथ गठबंधन में जाने के संकेत दे दिये थे. बता दें कि यूपी में एसपी और बीएसपी ने पहले ही गठबंधन कर लिया है और इस गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया है. कांग्रेस की ओर से यूपी में छोटे दलों से गठबंधन की कोशिशें लगातार जारी हैं.