बरेली: बेटे की बहू के चक्कर में मौलवी ने 60 साल की बीवी से कहा- 'तलाक-तलाक-तलाक'

. 60 साल की बुजुर्ग महिला अब अपने मायके में है और पुलिस से इंसाफ की गुहार लगा रही है.

बरेली: बेटे की बहू के चक्कर में मौलवी ने 60 साल की बीवी से कहा- 'तलाक-तलाक-तलाक'
महिला ने अपने शौहर के खिलाफ बरेली में केस दर्ज कराया है.

बरेली, (सुबोध मिश्रा): उम्र के जिस पड़ाव पर पति-पत्नी एक-दूसरे के सारथी होते हैं. उस पड़ाव पर एक एक बुजुर्ग मौलवी ने अपनी 60 साल की बीवी को तीन तलाक देकर रिश्ता तोड़ लिया. मामला बरेली से उस वक्त सामने आया जब देश में तीन तलाक बिल का मुद्दा चरम पर है. महिला ने बताया कि उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसने अपने पति के अवैध संबंधों का विरोध किया था. 60 साल की बुजुर्ग महिला अब अपने मायके में है और पुलिस से इंसाफ की गुहार लगा रही है.

मामला बरेली के बहेड़ी की है. पीड़िता का निकाह 19 साल पहले उत्तराखंड के सितारगंज के मौलवी व मदरसा संचालक सय्यद सिराज अहमद उर्फ (मुन्ने मियां) से हुआ था. पीड़िता ने बताया कि पहली बीवी के मरने के बाद सय्यद सिराज अहमद ने उनके साथ दूसरा निकाह किया. उस वक्त उनकी पहली बीवी से उनके आठ बच्चे थे. 

पीड़िता का आरोप है कि पत्नी के देहांत के बाद मौलवी ने बच्चों को न बता कर धोखा देकर दूसरा निकाह कर लिया. निकाह के कुछ साल बाद मौलवी का अपने बेटे के बहू के साथ ही अवैध संबंध हुए, जिसका विरोध किया तो घर में उनके बीच अनबन शुरू हो गई. मामला बढ़ा तो मौलवी ने शादी के 19 साल बाद अपनी बीवी को तीन तलाक देकर उसे घर से बाहर निकाल दिया.

पीड़िता ने बहेड़ी थाने में तहरीर देकर अपने मौलवी पति के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है. हालांकि अभी तक इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की है. मामले की जानकारी देते हुए एसपी ग्रामीण संसार सिंह का कहना है कि वो मामले की जांच करवा रहे हैं.