साइबर अपराधों पर नकेल, एक महीने में ऑनलाइन ठगी के शिकार पीड़ितों के वापस कराए छह लाख रुपये

एसएसपी अभिषेक यादव के निर्देश पर मुजफ्फरनगर पुलिस लाइन में साइबर सेल को भंग करके नए तरीके से गठित किया था. साइबर सेल में एकल खिड़की योजना लागू की गई थी. इसके तहत फरियादी को कहीं भी जाने की आवश्यकता नहीं थी केवल साइबर सेल पहुंचकर अपनी सूचना दर्ज करानी थी और उसके बाद सारा काम पुलिस का होता है.

साइबर अपराधों पर नकेल, एक महीने में ऑनलाइन ठगी के शिकार पीड़ितों के वापस कराए छह लाख रुपये

मुजफ्फरनगर: साइबर अपराध की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने जिले में साइबर हेल्प सेंटर की शुरूआत की थी और ये पूरी तरह से कामयाब नजर आ रही है. साइबर सेल ने एक महीने में ऑनलाइन ठगी के शिकार पीड़ितों के छह लाख से अधिक रुपये वापस कराए हैं. साइबर हेल्प सेंटर के माध्यम से साइबर क्राईम का शिकार लोगों को राहत मिल रही है.

साइबर सेल में एकल खिड़की योजना लागू की गई
मुज़फ्फरनगर एसएसपी अभिषेक यादव के निर्देश पर मुजफ्फरनगर पुलिस लाइन में साइबर सेल को भंग करके नए तरीके से गठित किया था. साइबर सेल में एकल खिड़की योजना लागू की गई थी. इसके तहत फरियादी को कहीं भी जाने की आवश्यकता नहीं थी केवल साइबर सेल पहुंचकर अपनी सूचना दर्ज करानी थी और उसके बाद सारा काम पुलिस का था और यह योजना काम कर गई. साइबर संबंधी अपराधों की एफआईआर की कॉपी भी यहीं से पीड़ित को उपलब्ध कराई जाती है.

पीड़ितों के करीब 6 लाख रुपये वापस कराए
1 महीने में मुजफ्फरनगर एसएसपी के साइबर सेल नजीर बन गई एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने बताया कि 1 महीने में पीड़ितों के करीब 6 लाख रुपये वापस कराए गए हैं. इसके अलावा भी कई मामले पाइप लाइन में हैं और जल्द उन्हें भी सॉल्व करके उनके पैसे भी वापस दिलाए जाएंगे. ऑनलाइन ठगी का शिकार हुए लोगों ने साइबर सेल टीम का धन्यवाद किया है.

WATCH LIVE TV