UP: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव की नई टीम पर नजर, जानिए किसे मिल सकती है जगह

बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की नई टीम की घोषणा पर सभी की निगाहें टिकी हैं. कहा जा रहा है कि वे होली के बाद अपने साथियों का ऐलान कर सकते हैं. 

UP: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव की नई टीम पर नजर, जानिए किसे मिल सकती है जगह
फाइल फोटो

राजीव श्रीवास्तव/लखनऊ: उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह अपनी प्रदेश टीम की घोषणा होली के बाद कर सकते हैं. वैसे भारतीय जनता पार्टी के लखनऊ स्थित राज्य कार्यालय में लगातार प्रदेश के नेताओं का जमावड़ा बना हुआ, पर सूत्रों की माने तो टीम स्वतंत्र देव लगभग 60 प्रतिशत चेहरे पिछली टीम से बने रह सकते हैं. टीम में 15 उपाध्यक्ष, 7 महामंत्री और 16 मंत्री रहने कि संभावना है.

सूत्र बताते हैं इसके पीछे का कारण है कि इसी टीम को 2022 में बीजेपी की नैया को विधान सभा चुनाव में पार लगाना होगा. ऐसे में पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि टीम को चुनावों में ले जाने के लिए तजुर्बे कि जरूरत होगी जो कि पूर्व पार्टी अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडे कि टीम के पास है.

हालांकि पार्टी रननीतिकर इस बात पर भी लगभग एकमत है कि जिन पदाधिकारियों को योगी सरकार में मंत्री पद मिल गया है या किसी आयोग में पद मिल गया है उनको भी इस बार टीम में जगह नहीं दी जाएगी.

ऐसे में वर्तमान में मोदी सरकार में राज्य मंत्री और वर्तमान में उपाध्यक्ष संजीव बालियान, परिवहन मंत्री और पार्टी में महामंत्री अशोक कटारिया, प्रदूषण बोर्ड के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष जेपीएस राठोर, जसवंत सैनी, नवाब सिंह नागर, धर्मवीर प्रजापति, कौशलेंद्र पटेल आदि पदाधिकारियों को टीम स्वतंत्र देव में जगह न मिलने कि उम्मीद है.

इसी तरह से अगर पार्टी के रननीतिकर इस बाबत फैसला लेते हैं कि विधायक या संसद बन चुके पदाधिकारियों को टीम में जगह नहीं दी जाएगी तो अक्षयवर लाल गौर जो कि बहराइच से सांसद हैं, पुष्पेंद्र खंडेलवाल जो कि आगरा से विधायक हैं, सुरेश तिवारी जो कि अवध क्षेत्र के अध्यक्ष हैं और बी एल वर्मा आदि को भी टीम से बाहर किया जा सकता है.   

हालांकि अपवाद के तौर पर नोएडा से विधायक और पार्टी में महामंत्री पंकज सिंह जो कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र हैं टीम स्वतंत्र देव में बने रह सकते है. हांलांकी पंकज सरीखे नेताओं पर फैसला दिल्ली के नेतृत्व को करना होगा.

 

इसके साथ ही कुछ ऐसे भी पदाधिकारी है जिनको पार्टी 2022 के विधान सभा चुनाव में मैदान में उतार सकती हैं. ऐसे पदाधिकारियों में सलिल बिशनोई, वाईपी सिंह आदि नेताओं का नाम हो सकता है. हांलांकी यह भी अभी तय नहीं है कि बिश्नोई और सिंह जैसे पदाधिकारी टीम में बने रहेंगे या चुनाव लड़ने कि इक्षा के चलते टीम से बाहर रहेंगे.

इसके अलावा पदाधिकारियों कि लिस्ट में कई ऐसे भी हैं जिनको अलग अलग अन्य कारणों से टीम में जगह नहीं मिल सकती है। इसमे सबसे बड़ा नाम वर्तमान में पार्टी के महामंत्री विजय बहादुर पाठक का है. सूत्रों की माने तो तो अगर पाठक केंद्र में जेपी नड़ड़ा की टीम में जाते हैं तो उनको स्वतंत्र देव की टीम में जगह नहीं मिलेगी. इसी तरह पार्टी में उपाध्यक्ष के पद पर काबिज दया शंकर सिंह उनकी पत्नी स्वाति सिंह के मंत्री पद पर काबिज रहने कारण टीम स्वतंत्र देव से बाहर हो सकते हैं.

नए चेहरों में यह तो लगभग तय है कि स्वतंत्र देव की टीम में नए जाट और गुर्जर चेहरे को जगह मिल सकती है. संजीव बालियान की जगह पर किसान मोर्चा के अध्यक्ष राजा वर्मा, उनके भाई और पूर्व गाज़ियाबाद के महापौर आशु वर्मा और क्षेत्रीय मंत्री मोहित बेनीवाल आदि टीम स्वतंत्र देव में जगह पाने के लिए अपनी ताकत झोंके हुए हैं। उधर नवाब सिंह नागर के बाहर होने की सूरत में गुर्जर चेहरे में हरीश चन्द्र भाटी और क्षेत्रीय उपाध्यक्ष जीतेंद्र वर्मा आदि अपनी ताकत झोंके हुए हैं.  

नए चेहरों में बीजेपी की मीडिया टीम में बने हुए संजय राय, राकेश त्रिपाठी आदि का प्रमोशन तय माना जा रहा ह.। इन दोनों को टीम स्वतंत्र में बड़ी ज़िम्मेदारी मिलने की संभावना बताई जा रही है। इसी तरह से हीरो बाजपई, समीर सिंह, डॉ चंद्रमोहन और हरीश श्रीवास्तव भी अपनी ताकत झोंके हुए हैं.

इसके साथ ही प्रदेश मंत्री त्रयम्बक त्रिपाठी, अमरपाल मौर्य, अनूप गुप्ता, प्रकाश पाल, संतोष सिंह आदि अपने प्रमोशन के लिए ताकत लगाए हुए हैं. पूर्व में अवध क्षेत्र के सगठन मंत्री रहे बृज बहादुर भरद्वाज की टीम स्वतंत्र में वापसी हो सकती है. अटकलें इस पर भी लगाई जा रही हैं कि क्या पार्टी महामंत्री विद्या सागर सोनकर अपनी जगह बरकरार रखने में कामयाब होंगे?

इसके साथ ही इस बार टीम स्वतंत्र में कई नए चेहरों को जगह मिल सकती है

हालांकि पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का मानना है कि प्रदेश स्तर पर टीम को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पार्टी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और संगठन मंत्री सुनील बंसल में चर्चाओं का दौर जारी है पर घोषणा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड़ड़ा के साथ बैठक के बाद ही होगा. ऐसे में माना जा रहा है कि नयी टीम कि घोषणा फिलहाल होली से पहले नहीं हो पाएगी.