close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का हुआ कायाकल्प, अब मिलेंगी एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं

सूत्रों की मानें तो, जल्द ही मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदला जा सकता है. कहा जा रहा है कि मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बनारस किया जा सकता है.

VIDEO: मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का हुआ कायाकल्प, अब मिलेंगी एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं
मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का यह दूसरा इंट्री गेट है, जिसकी हाल ही में शुरुआत की गई है.

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का कायाकल्प लगातार हो रहा है. कई हजार करोड़ की अनेकों परियोजनाओं से बनारस की रंगत को नया रूप देने का प्रयास तेज गति से किया जा रहा है. हाल ही में इसका एक और उदाहरण नजर आया है. दरअसल, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने वाराणसी के मंडुआडीह रेलवे स्टेशन की कुछ तस्वीरें साझा की हैं. इन तस्वीरों में पीयूष गोयल ने मंडुआडीह रेलवे स्टेशन की तुलना एयरपोर्ट से की है. उन्होंने दावा किया है कि स्टेशन पर यात्रियों की सुविधाओं के लिए विश्वस्तरीय व्यवस्थाएं की गई हैं. 

 

 

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर लिखा है कि किसी एयरपोर्ट की तरह चमकता वाराणसी का मंडुआडीह रेलवे स्टेशन आज यात्रियों को सुविधा के साथ साथ 5 सालों में हुई देश की तरक्की का एहसास करा रहा है. रेलवे स्टेशनों का यह रूप और सुविधाएं आने वाले समय मे देश भर में मिलेंगी. नामुमकिन अब मुमकिन है. वहीं, एक अन्य ट्वीट में गोयल ने लिखा कि वाराणसी का मंडुआडीह स्टेशन विश्वस्तरीय सुविधाओं के साथ अपनी स्वच्छता और सौंदर्यीकरण से यात्रियों को एक नया अनुभव प्रदान कर रहा है. काशी के प्राचीन वैभव को पुनः जीवित करता यह स्टेशन देश के सबसे सुंदर स्टेशनों में से एक बनने जा रहा है.

 

दरअसल, मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का यह दूसरा इंट्री गेट है, जिसकी हाल ही में शुरुआत की गई है. वहीं, सूत्रों की मानें तो, जल्द ही मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदला जा सकता है. कहा जा रहा है कि मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बनारस किया जा सकता है. मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलने के लिए रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ से अनुरोध किया था.