राहुल गांधी ने वाजपेयी की तुलना इंदिरा गांधी और पंडित नेहरू से की, जानें क्यों

राहुल गांधी ने कहा, 'पीएम मोदी कहते हैं कि कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि देश को IIT किसने दिया. हमने अमेठी में छह टेक्निकल इंस्टीट्यूट दिए हैं. 

राहुल गांधी ने वाजपेयी की तुलना इंदिरा गांधी और पंडित नेहरू से की, जानें क्यों
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पिछले कुछ समय से पीएम मोदी पर आक्रामक जुबानी हमले कर रहे हैं.

अमेठी: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तुलना पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और पंडित जवाहर लाल नेहरू से की है. साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया. अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी दौरे पर गए राहुल गांधी ने कहा, 'जो वाकई नेता होते हैं वे भविष्य की बात करते हैं, पंडित नेहरू, इंदिरा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी भविष्य की बात करते थे. लेकिन कुछ लोग खुद को नेता तो कहते हैं, लेकिन केवल नफरत फैलाने का काम करते हैं.'

राहुल गांधी ने कहा, 'पीएम मोदी कहते हैं कि कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि देश को IIT किसने दिया. हमने अमेठी में छह टेक्निकल इंस्टीट्यूट दिए हैं. 

देश भर में जारी कैश की किल्लत पर राहुल गांधी ने कहा कि ऐसा नोटबंदी के चलते हुआ है. नोटबंदी का असर अब तक देश झेल रहा है. लोगों के बैंक खाते में पैसे पड़े हैं, लेकिन वे एटीएम से निकाल नहीं पा रहे हैं. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने नीरव मोदी, विजय माल्या, ललित मोदी जैसे लोगों को देश का पैसा देकर यहां से भगा दिया, लेकिन किसानों को एक पैसा नहीं दे सकते हैं. 

राहुल गांधी ने कहा कि देश में महिलाओं पर अत्याचार हो रहा है, बच्चों को मारा जा रहा है. जो आरेापी हैं सरकार उसकी रक्षा कर रही है. पीएम मोदी ऐसे मुद्दों पर कुछ नहीं बोल रहे हैं.

इससे पहले राहुल गांधी ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा, 'पीएम संसद में खड़े होने से डरते हैं. हमें 15 मिनट को भाषण मिल जाए संसद में पीएम खड़े नहीं हो पाएंगे. चाहे वह राफेल का मामला हो या, चाहे वो नीरव मोदी का मामला हो, पीएम मोदी खड़े नहीं हो पाएंगे.

देश में जारी कैश किल्लत पर राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी ने देश की बैंकिंग व्यवस्था को तहस-नहस कर दिया है. नीरव मोदी 30 हजार करोड़ लेकर भाग गया, लेकिन पीएम एक शब्द नहीं बोल पाए. हमारी जेब से 500 और 1000 रुपए के नोट छिनकर नीरव मोदी को दे दिया गया और हम एटीएम की लाइन में खड़े होने को मजबूर हैं.

अमेठी में छात्रों ने राहुल गांधी से पूछा बिजली-पानी कब आएगा?
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में हैं. सोमवार को वे अमेठी में एक स्कूल में बच्चों से मिले, जहां स्कूली छात्राओं से दिलचस्प बातचीत का विडियो सामने आया है. जो वायरल हो रहा है. छात्राओं ने जब अपने क्षेत्र के सांसद से सवाल किए, तो उन्होंने बहुत ही आसानी से सारा ठिकरा पीएम मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार पर फोड़ दिया. आपको बता दें कि राहुल गांधी दो दिवसीय दौरे पर अमेठी पर हैं. वह सोमवार (16 अप्रैल) को लखनऊ से सड़क मार्ग से अमेठी पहुंचे. इस दौरान उन्होंने किसानों के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुनीं और उनका मुद्दा संसद में उठाने का आश्वासन भी दिया.

छात्रा ने क्या किया था सवाल 
स्कूल में बच्चों से बातचीत के दौरान एक छात्रा ने अमेठी के सांसद राहुल गांधी से पूछा, 'देश में जो कानून बनते हैं उन्हें ग्रामीण इलाकों में सही से लागू क्यों नहीं किया जाता है'? इसके जवाब में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अमेठी के सांसद राहुल गांधी ने कहा, 'ये आप मोदी जी से पूछिए. सरकार मोदी जी चला रहे हैं. हमारी सरकार नहीं है, जब हमारी सरकार होगी तो हम जवाब देंगे.'

छात्रा ने जब अपने सांसद से अमेठी को लेकर ही बोलने को कहा. छात्रा ने कहा, 'संसदीय क्षेत्र में बिजली-पानी जैसी सुविधाएं क्यों नहीं हैं'? इस पर राहुल ने जवाब दिया, 'अमेठी को तो योगी जी चला रहे हैं. मेरा काम लोकसभा में कानून बनाने का है, अमेठी तो उन्हें चलाना है. न ही वह बिजली दे रहे हैं, न पानी दे रहे हैं. ये सब काम उन्हें करना  चाहिए, लेकिन वो तो कुछ और कर रहे हैं.'