फर्जी टीचर्स पर योगी सरकार का चला चाबुक, नौकरी के साथ देनी होगी पूरी कमाई

बुलंदशहर के बेसिक शिक्षा अधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि परिषदीय स्कूलों में फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी कर रहे 4 शिक्षक मिले हैं. इन सभी की तत्काल प्रभाव से सेवा समाप्त करने के साथ उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. अब वेतन रिकवरी के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं. 

फर्जी टीचर्स पर योगी सरकार का चला चाबुक, नौकरी के साथ देनी होगी पूरी कमाई
सांकेतिक तस्वीर.

बुलंदशहर: बेसिक शिक्षा विभाग को जिले के स्कूलों में 4 और शिक्षक मिले जो फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी कर रहे थे. चारों टीचर्स पर बीएसए ने कार्रवाई करते हुए उनकी सेवा समाप्त कर दी है. इसके साथ ही उन पर केस दर्ज कर सारी सैलेरी रिकवर करने के भी आदेश दिए गए हैं. 

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में बेसिक शिक्षा परिषदीय स्कूलों में कस्तूरबा गांधी विद्यालय में फर्जी डॉक्यूमेंट्स बना कर कुछ टीचर्स नौकरी करते पाए गए थे. शासन ने बीएसए को ऐसे नकली अध्यापकों पर कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए थे. इसके बाद, इन फर्जी टीचर्स की शिकायतें निलने पर तत्काल एक्शन लिया गया. 

ये भी पढ़ें: यह है आपके 2021 का Holiday Calendar, प्लान कर लें अपनी छुट्टियां और ट्रिप्स ​

फर्जी दस्तावेजों पर कर रहे थे नौकरी 
बता दें, पिछले दिनों लगातार बुलंदशहर सुर्खियों में रहा है. वजह यही थी कि कस्तूरबा गांधी स्कूलों में कई लोग फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी करते पाए गए और रिपोर्ट दर्ज होने के बावजूद उनका पूरी तरह से पता नहीं लगा. जिले में फर्जी एजुकेशन डॉक्यूमेंट्स के जरिए कई लोग नौकरी कर रहे हैं और जो इसके लिए क्वॉलिफाइड हैं उनको नौकरी नहीं मिल रही. लेकिन अब शासन का आदेश मिलते ही बुलंदशहर के बीएसए अखंड प्रताप सिंह ने सभी एबीएसए और बाकी अधिकारियों को ऐसे आरोपियों की तलाश के लिए आदेश जारी कर दिए हैं. अफसर भी तलाश शुरू कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं. 

UPTET की भी नकली मार्कशीट बनवाई 
जो चार शिक्षक इस मामले में आरोपी पाए गए हैं उनकी यूपीटेट (UPTET) की मार्कशीट भी फर्जी थी.  ये सभी फर्जी टीचर लंबे समय से नौकरी कर रहे थे. उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस मुहिम से बेसिक शिक्षा विभाग में हो रही फर्जी नियुक्तियों पर रोक लगनी शुरू हो गई है. 

ये भी पढ़ें: कोरोना को हराने के लिए योगी सरकार का एक और कदम, कोविड सेंटर ढूंढ कर देगा यह 'लोकेटर' ऐप 

नहीं बख्शा जाएगा कोई भी फर्जी टीचर 
बुलंदशहर के बेसिक शिक्षा अधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने बताया कि परिषदीय स्कूलों में फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी कर रहे 4 शिक्षक मिले हैं. इन सभी की तत्काल प्रभाव से सेवा समाप्त करने के साथ उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. अब वेतन रिकवरी के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं. अभी भी ऐसे कई शिक्षक रडार पर हैं. जनपद में किसी ऐसे टीचर को नहीं बख्शा जाएगा जो फर्जी शैक्षिक दस्तावेजों पर नौकरी कर रहे हैं. 

WATCH LIVE TV