Blogs

युद्ध विकल्प नहीं, शांति संभव नहीं... तो क्या करे भारत?

By Pravin Kumar| Last Updated: Saturday, September 24, 2016 - 19:22

कश्मीर घाटी के उड़ी में भारतीय सेना के शिविर पर आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। पाकिस्तान की किसी भी तरह के हमले की तैयारियों के बीच भारत भी सीमा पर अपनी तैयारी मजबूत करने लगा है। करीब 778 किलोमीटर लंबी एलओसी पर जवानों की नए सिरे से और ज्यादा संख्या में तैनाती की जा रही है। साथ ही हथियार और फ्यूल भी जमा किये जा रहे हैं। निश्चित रूप से ये तैयारियां जंग जैसे हालात की

स्वीमिंग का 'महामानव' माइकल फेलेप्स

By Sanjeev Kumar Dubey| Last Updated: Friday, August 12, 2016 - 08:56

लंबी कदकाठी, सुगठित काया, 6 फीट चार इंट की लंबाई और 6 फीट सात इंच का विंग स्पैन। माइकल फेलेप्स ओलंपिक की दुनिया में उन खिलाड़ियों में शुमार होते हैं जो चुनौती देकर जीत हासिल करना बखूबी जानता है। खेल से पहले जीत का शंखनाद कर गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाता है। ऐसा लगता है मानो जीत जिसकी नसों में बहता है और कामयाबी अपने मजबूत इरादों और अनोखे पंजे से हासिल करता है। जीतना उसका उसका जुनून भी है और फितरत भ

राहुल की शादी से बदलेगी कांग्रेस?

By Pravin Kumar| Last Updated: Tuesday, July 12, 2016 - 19:55

अगले महीने इलाहाबाद के आनंद भवन में संपन्न होगी, सियासत के गलियारों में ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं। 

जंबो जेट के कंधों पर जंबो जिम्मेदारी

By Pravin Kumar| Last Updated: Thursday, June 23, 2016 - 20:05

कुंबले को उनके जमाने के साथी 'जंबो' नाम से पुकारते थे। दरअसल कुंबले का निक नेम जंबो है। एक स्पिन गेंदबाज के रूप में जंबो जेट जैसी तेजी वाली गेंद फेंकने के चलते उनका नाम जंबो नहीं पड़ा था, बल्कि अपने लंबे पैरों की वजह से कुंबले अपने साथियों के बीच जंबो नाम से मशहूर हो गए थे। अब इस जंबो जेट के कंधों पर टीम इंडिया को नई ऊंचाई पर ले जाने की जंबो जिम्मेदारी मिली है।

NSG सदस्यता : भारत के बढ़ते दबदबे से घबड़ाया चीन

By Alok Kumar Rao| Last Updated: Monday, June 20, 2016 - 19:30

भारत परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) का सदस्य बन पाता है कि नहीं इस पर दुनिया भर की निगाहें टिकी हैं। चीन ने कहा है कि सियोल में होने वाली इस अहम बैठक में भारत की सदस्यता का मुद्दा एनएसजी के एजेंडे में शामिल नहीं है। भारत की सदस्यता को लेकर चीन ने न तो 'हां' कहां है और न ही 'ना'। उसने सैद्धांतिक रूप से विरोध भी नहीं किया है लेकिन उसके इस बयान से साफ है कि वह

....ओ सूरज दादा और कितना जलाओगे!

By RAVI VAISH| Last Updated: Sunday, June 12, 2016 - 08:52

गर्मी का मौसम है तो ज़ाहिर सी बात है गर्मी होगी ही और होनी भी चाहिए क्योंकि कहा भी जाता है कि मौसम को मोटे तौर पर जाड़ा गर्मी बरसात के खानों में बांटा गया है और हर मौसम का अपना मज़ा और नुकसान दोनों ही हैं। गर्मी के मौसम में गर्मी की मार से यूं तो सभी बेहाल हैं क्या आम और क्या खास सभी पर गर्मी की तपिश भारी पड़ रही है।

पश्चिम बंगाल में फिर चला 'दीदी' का जादू

By Bimal Kumar| Last Updated: Thursday, May 19, 2016 - 17:22

पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी के नेतृत्‍व वाली तृणमूल कांग्रेस की ऐसी आंधी बहेगी, इसकी उम्‍मीद शायद न तो 'दीदी' को रही होगी और न ही उनके किसी पार्टी कार्यकर्ता को। दीदी के लिए यह किसी अत्प्रत्याशित जीत से कम नहीं है। तृणमूल कांग्रेस को दो तिहाई बहुमत और लगातार दूसरी बार राज्‍य की सत्‍ता में वापसी। पश्चिम बंगाल का ये प्रचंड चुनावी नतीजा खुद में काफी कुछ बयां करता है। पश्चिम बंगाल में 34 साल की मजबूत साम्यवादी सरकार को जड़ से उखाड़ फेंकने के बाद सत्‍तारुढ़ होना और फिर दोबारा वापसी करना यह साबित करता है कि ममता की सत्‍ता पर कितनी मजबूत पकड़ है।

जगन्नाथ पुरी: भाव और भक्ति के सर्वोत्तम नाथ

By Sanjeev Kumar Dubey| Last Updated: Friday, May 6, 2016 - 15:32

पुरी के जगन्नाथ मंदिर जाने और उनके अद्भुत स्वरूप के दर्शन करने की इच्छा बचपन से बलवती थी। एक बार भुवनेश्वर जाने का मौका भी मिला था। लेकिन हालात इस कदर अनुकूल नहीं थे और मैं चाहकर भी वहां जा नहीं पाया। दोबारा यह मौका मुझे लगभग दो साल के बाद मिला।

'संघ फोबिया' में जीने लगे हैं नीतीश?

By Pravin Kumar| Last Updated: Sunday, April 17, 2016 - 20:28

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एक साथ संघ यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मुक्त भारत और शराब मुक्त भारत (एल्कोहल फ्री इंडिया) का एक साथ आह्वान किया है। बात अगर 'संघ-मुक्त भारत' की करें तो नीतीश ने यह आह्वान अभी देश की जनता से नहीं, बल्कि तमाम गैर भाजपाई दलों के नेताओं से किया है। तो क्या माना जाए, नीतीश इस सियासी मंत्र से बिहार के बाद अब केंद

टीम इंडिया का जुझारू 'योद्धा' विराट कोहली

By Sanjeev Kumar Dubey| Last Updated: Tuesday, March 29, 2016 - 16:55

 

...तो कारोबार माल्या जैसा न करें

By Alok Kumar Rao| Last Updated: Tuesday, March 15, 2016 - 00:38

अपनी लाइफ स्टाइल से हमेशा सुर्खियों में रहने वाले उद्योगपति विजय माल्या का यह हाल होगा, इसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। माल्या अपने जीवन में कारोबार के लिए कम लेकिन ग्लैमर, चकाचौंध और रंगीन मिजाजी के लिए ज्यादा जाने जाते रहे हैं। उनकी जीवन शैली देखने से लगता है कि माल्या ने अपने कारोबार को कभी संजीदगी से नहीं लिया। दुनिया में उनकी तरह के उद्योगपति कमी नहीं है लेकिन उनकी प्राथमिकता में कारोबार पहले

माउंटआबू के चारों दिशाओं में विराजमान हैं भगवान हनुमान

By Sanjeev Kumar Dubey| Last Updated: Friday, March 4, 2016 - 17:09

राजस्थान का माउंटआबू एक हिल स्टेशन होने के अलावा एक ऐसा शहर है जो जर्रे-जर्रे से अपनी आध्यात्मिकता का एहसास कराता है। यह एक हिल स्टेशन जरूर है लेकिन किसी धर्मनगरी से कम नहीं जहां भगवान शंकर, भगवान राम, भगवान विष्षु, भगवान कृष्ण और भगवान दत्तात्रेय से जुड़े कई प्राचीन मंदिर है। यहां भगवान हनुमान जी भी शहर की हर दिशाओं में विराजमान है और उनके प्रति यहां के लोगों की ऐसी आस्था है कि वह पूरे माउंटआब

ताकि पेड़ों की छांव बनी रहे

By Lalit Fulara| Last Updated: Tuesday, March 1, 2016 - 12:28

विकास के नाम पर जहां एक तरफ हम पेड़ों की अंधाधुंध कटाई के लिए 'कुल्हाड़ी' उठाए तत्पर हैं। वहीं, दूसरी तरफ विभिन्न शहरों में कुछ हाथ पेड़ों के संरक्षण के लिए मुठ्ठी बांधे बुलंद हैं। मेरी दिलचस्पी ऐसे ही हाथों के प्रति है। वर्षों पहले मेरे गृहराज्य में पेड़ों को काटने के विरोध में एक महान आंदोलन का सूत्रपात हुआ। दुर्भाग्यवश!

आम बजट 2016 : मिडिल क्लास को जोर का झटका

By Alok Kumar Rao| Last Updated: Monday, February 29, 2016 - 17:39

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तीसरी बार सोमवार को आम बजट पेश किया। इस बजट से मध्यम वर्ग को बहुत सारी उम्मीदें थीं लेकिन बजट की घोषणाओं से मध्यम वर्ग को निराशा हाथ लगी है। मध्यम वर्ग को सबसे ज्यादा उम्मीद आय कर स्लैब में बदलाव को लेकर थी लेकिन वित्त मंत्री ने आय कर स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया है बल्कि सर्विस टैक्स में 0.5 फीसदी का इजाफा कर जोर का झटका दिया है। बजट में सर्विस टैक्स 14.5 फीसदी से बढ़कर 15 फीसदी कर दिया गया है। यानी सर्विस टैक्स से जुड़ी सभी सेवाएं महंगी हो जाएंगी। सर्विस टैक्स में 0.5 फीसदी का कृषि कल्याण कर लगाया गया है।    

जाट आरक्षण : आंदोलन या फिर 'साजिश'?

By Pravin Kumar| Last Updated: Sunday, February 21, 2016 - 13:04

हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन ने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया है। खट्टर सरकार के जाट नेता व मंत्री, पुलिस और सेना को निशाना बनाते हुए यह आंदोलन अब पूरी तरह से समाज विरोधी रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। पूरे प्रदेश में जातीय टकराव की खतरनाक स्थिति बन गई है। निश्चित रूप से इस आंदोलन ने एक साथ कई सवाल खड़े किये हैं? पहला ये कि जाट आरक्षण आंदोलन किसी साजिश का हिस्सा तो नहीं है?