कृष्ण: मुक्ति संघर्ष के महानायक

कृष्ण: मुक्ति संघर्ष के महानायक

कृष्ण आदि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे. स्वराज, स्वाधीनता और स्वतंत्रता क्या है कृष्णचरित के जरिए अच्छे से समझा जा सकता है.

Opinion : आसाराम को आजन्म कारावास- अब कास्टिंग काउच के शैतानों की खैर नहीं!

Opinion : आसाराम को आजन्म कारावास- अब कास्टिंग काउच के शैतानों की खैर नहीं!

नए कानून के तहत आसाराम को आजन्म कारावास की सजा भारतीय न्याय व्यवस्था के अकादमिक इतिहास में एक नया मील का पत्थर साबित हो सकती है. रेप मामले में दो सहआरोपियों के बरी होने के बावजूद आसाराम को मिली सजा से कानून की ताकत बुलंद हुई है.

Opinion : BJP की दक्षिण विजय की राह में आने वाले रोड़े!

Opinion : BJP की दक्षिण विजय की राह में आने वाले रोड़े!

दक्षिण भारत में कर्नाटक एकमात्र राज्य है जहां भाजपा एक बार सत्ता में रह चुकी है, और पार्टी यहां की जीत के बल पर दक्षिण के राज्यों में अपनी पैठ बनाने की संभावनाओं के द्वार खोलना चाहती है.

मसला बेरोज़गारी का (भाग एक) : क्या आपातकालिक समस्या बन गई है बेरोज़गारी?

मसला बेरोज़गारी का (भाग एक) : क्या आपातकालिक समस्या बन गई है बेरोज़गारी?

जब सरकारी आंकड़े उपलब्ध ही न हों तो इसका अलावा क्या चारा है कि गैरसरकारी अनुमान लगाए जाएं. सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले लोग बेरोज़गारी के आकार का अंदाजा लगाते रहते हैं और देश में मोटे तौर पर पर 10 से 15 करोड़ बेरोज़गारों का अनुमान लगाते हैं

जेलों पर लिखने वाले ऐसे तीन किरदार, जिनकी कहीं बात नहीं हुई

जेलों पर लिखने वाले ऐसे तीन किरदार, जिनकी कहीं बात नहीं हुई

कमाल की बात यह है कि जेलों के नाम पर होने वाले शोध में भी अक्सर जेल का वही सच और वही साहित्य चर्चा में आता है जिसे मीडिया लपकती है. बाकी जेल की दुनिया की ही तरह कहीं गुमनामी में खो जाता है. 

बजट 2018 Analysis : किसानों ने क्या पाया इस बजट में...

बजट 2018 Analysis : किसानों ने क्या पाया इस बजट में...

कल बजट का पहला हिस्सा कृषि और उससे सम्बन्धी क्षेत्रों को ही समर्पित था. वित्त मंत्री के किसानों के लिए ऐलान शुरू करते ही एक विवाद उठ गया.

Analysis : इनकम टैक्स में राहत नहीं, म्यूचुअल फंड से होने वाली कमाई पर भी देना होगा टैक्स

Analysis : इनकम टैक्स में राहत नहीं, म्यूचुअल फंड से होने वाली कमाई पर भी देना होगा टैक्स

स्टैंडर्ड डिडक्शन लागू होने के बावजूद सैलरीड क्लास को महज 5,800 रुपये पर टैक्स कटौती का फायदा होगा, क्योंकि मौजूदा दोनों भत्ते (परिवहन और चिकित्सा) छीन लिए गए हैं. किसे कितना फायदा मिलेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि वह कौन से टैक्स स्लैब में आते हैं.

ANALYSIS : राजस्‍थान उपचुनाव में इसलिए कांग्रेस ने बीजेपी को पछाड़ा

ANALYSIS : राजस्‍थान उपचुनाव में इसलिए कांग्रेस ने बीजेपी को पछाड़ा

कांग्रेस के राजस्थान उपचुनाव में कांग्रेस के जीतने में संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ का एक बड़ा योगदान हो सकता है. 

स्कूली बच्चों में क्यों पनप रही हिंसक प्रवृत्ति?

स्कूली बच्चों में क्यों पनप रही हिंसक प्रवृत्ति?

हम लोगों के समय स्कूलों की होने वाली छुट्टियों की बात आज परी कथाओं की तरह अविश्वसनीय हो गई हैं. हम लोगों को अफसोस होता था कि इतनी छुट्टियां क्यों हो गईं. आज हमारे बच्चों को अपने ही साथियों की हत्या करनी पड़ रही है, ताकि छुट्टियां हो जाएं.

मध्‍य प्रदेश स्‍पेशल : श्रीनिवास तिवारी, एक आम आदमी का जननायक बन जाना

मध्‍य प्रदेश स्‍पेशल : श्रीनिवास तिवारी, एक आम आदमी का जननायक बन जाना

राजनीतिक प्रतिबद्धता कोई तिवारीजी से सीखे. जहां रहो आखिरी सांस तक उसी को जियो और यदि त्याग दिया तो- तजौ चौथि के चंद की नाईं. विंध्यप्रदेश की विधानसभा में जमींदारी उन्मूलन, ऑफिस ऑफ प्रॉफिट तथा विलीनीकरण के खिलाफ उनके ऐतिहासिक भाषण हुए. 

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता उपनिवेश नहीं हैं!

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता उपनिवेश नहीं हैं!

सरकार द्वारा सिर्फ अपनी विशेष भाषा से ही 28 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं के सम्मान-श्रम और भूमिका को दोयम दर्जे का साबित किया जा रहा है

हज सब्सिडी की समाप्ति : तुष्टीकरण से सशक्तिकरण की ओर एक कदम

हज सब्सिडी की समाप्ति : तुष्टीकरण से सशक्तिकरण की ओर एक कदम

सबसे बड़ी समस्या यह है कि सरकारों द्वारा मुस्लिम समाज से जुड़ा हुआ कोई भी निर्णय केवल सेक्युलर/कम्युनल के चश्मे से ही देखा जाता है और इसके प्रशासनिक दृष्टिकोण को हमेशा नजरअंदाज कर दिया जाता है.

ओशो ने बताया, मौन रखा नहीं जाता…यह तो हमेशा होता है

ओशो ने बताया, मौन रखा नहीं जाता…यह तो हमेशा होता है

ओशो ने सभी शास्त्रों और महान विचारकों की पुनर्व्याख्या की और नवसंन्यास जैसी संकल्पना को सामने रखा.

मणिपुर में भाजपा सरकार के 10 महीने का 'रिपोर्ट कार्ड'

मणिपुर में भाजपा सरकार के 10 महीने का 'रिपोर्ट कार्ड'

छह महीने की संक्षिप्त अवधि के भीतर मणिपुर सरकार ने अपनी कामकाज में पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न पहलों की हैं, जिसे लोगों के सहयोग से कम समय में लोगों के सर्वोत्तम हित में ही प्रगति में लाया गया. 

Book Review : सुरों को साथ लिए घूमती बंजारन की गाथा 'सुर बंजारन'

Book Review : सुरों को साथ लिए घूमती बंजारन की गाथा 'सुर बंजारन'

भारत में नौटंकी की दो मुख्य शैली मानी जाती है हाथरस शैली और कानपुर शैली. नौटंकी का जन्मस्थल ही उत्तरप्रदेश माना गया है. हाथरस औऱ कानपुर उसके मुख्य केंद्र रहे थे. पंडित नथाराम गौड़ को स्वांग विधा का जनक भी माना जाता है. 

तिनका-तिनका : हाशिए के पार की एक दुनिया, जो खुद को सृजन से जोड़ रही है

तिनका-तिनका : हाशिए के पार की एक दुनिया, जो खुद को सृजन से जोड़ रही है

तेलंगाना की जेल में बंदी 24 साल के गौरिश ने जेल में बंद मां को निरीहता से देखते उसके बच्चों और पिता को दिखाया है. पेशे से फोटोग्राफर रहे गौरिश के लिए चित्रकारी नई जिंदगी लेकर आई है.

नए साल के लिए कुछ सच्ची कहानियां...

नए साल के लिए कुछ सच्ची कहानियां...

जेल शब्द से तो हमें भय लगता ही है, जेल के अंदर की​ जिंदगी के किस्से भी हमने सुने ही हैं. जेल में कानून और व्यवस्था को कायम रखने के लिए उसके प्रशासक का एक रौबदार चेहरा आंखों के सामने आता है.

देश की पांच बड़ी संस्थाओं के लिए कैसा रहा साल 2017

देश की पांच बड़ी संस्थाओं के लिए कैसा रहा साल 2017

इस साल (2017) की कुछ घटनाओं के आधार पर देखने की कोशिश करते हैं कि इस साल पांच प्रमुख संस्थाओं की क्या छवि बनी.

राजनीतिक अनिश्चितताओं का साल रहा 2017...

राजनीतिक अनिश्चितताओं का साल रहा 2017...

कांग्रेस के लिए यह कोई विशेष हर्ष का साल तो नहीं रहा, लेकिन साल के अंत में उसको कुछ राहत ज़रूर मिली और पार्टी भाजपा के समक्ष एक मज़बूत विपक्ष के रूप में उभरने में कुछ हद तक सफ़ल भी रही. 

सुनिए जी... किताबें कुछ कहना चाहती हैं

सुनिए जी... किताबें कुछ कहना चाहती हैं

आज दुःख इस बात का है कि समाज संशय और भागमभाग के जिस संक्रमण काल से गुजर रहा है, वहां जिंदगी के लिए व्यवस्था बनाने में व्यस्त मनुष्य के पास इतनी फुर्सत नहीं है कि वह पुस्तकों का अध्ययन कर ज्ञान अर्जित कर सके.