राज्यसभा चुनाव : कांग्रेस के नारायण राठवा के नामांकन पर BJP ने उठाए सवाल, EC में दर्ज कराई शिकायत

गुजरात में राज्यसभा की चार सीटें हैं और मैदान में छह उम्मीदवार हैं. संख्याबल के आधार पर बीजेपी और कांग्रेस को दो-दो सीटें आसानी से मिल सकती हैं. 

राज्यसभा चुनाव : कांग्रेस के नारायण राठवा के नामांकन पर BJP ने उठाए सवाल, EC में दर्ज कराई शिकायत
गुजरात से कांग्रेसी उम्मीदवार नारायण राठवा के नामांकन पर बीजेपी ने आपत्ति उठाई है

नई दिल्ली : गुजरात से राज्यसभा सीट के लिए कांग्रेस के उम्मीदवार नारायण राठवा के नामांकन पत्र पर बीजेपी ने आपत्ति उठाई है. बीजेपी ने राठवा का नामांकन रद्द करने की मांग करते हुए चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया है. केंद्रीय मंत्री एमए नकवी तथा बीजेपी सांसद भूपेंद्र सिंह यादव ने आज मंगलवार को इस सिलसिले में चुनाव आयोग से मुलाकात की. भारतीय जनता पार्टी ने नारायणभाई राठवा के नामांकन में कई तरह की खामियों का आरोप लगाया है. बीजेपी का कहना है कि राठवा का नामांकन नियमानुसार नहीं भरा गया और उसके साथ कई जरूरी दस्तावेज भी जमा नहीं किए गए हैं. 

6 घंटे देरी से जमा हुआ नामांकन
नारायणाभाई राठवा ने बीजेपी के आरोपों पर कहा कि उन्होंने सोचा था कि उनका फार्म आसानी से जमा हो जाएगा. जरूरत के हिसाब से सभी दस्तावेज लगाकर उन्होंने अपना नामांकन जमा किया था. लेकिन बीजेपी के नेताओं ने झूठ बोलकर बखेड़ा खड़ा किया और उनका नामांकन रोकने की कोशिश की. इस चक्कर में छह घंटे बाद निर्वाचन अधिकारी ने उनका फार्म जमा कर लिया. 

बीजेपी के आरोपों को निराधार बताते हुए कांग्रेस के नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि बीजेपी सरासर झूठ बोल रही है. उन्होंने कहा कि उनके उम्मीदवार ने पूरे तथ्यों और सच्चाई के साथ नामांकन दाखिल किया है. गोहिल ने कहा कि बीजेपी बिना आधार के आपत्ति उठाकर परेशानी खड़ी कर रही है.

'कभी हां, कभी ना' के खेल में राजीव शुक्ला के हाथ से निकली राज्यसभा की कुर्सी

संसद से नहीं मिला नो ड्यूज सर्टिफिकेट
बीजेपी नेता जीतू वघानी का कहना है कि नारायण राठवा को संसद द्वारा कल शाम 3.30 बजे नो ड्यूज सर्टिफिकेट जारी किया गया था. इससे पहले राठवा ने झूठे दस्तावेज लगाकर नामांकन दाखिल कर दिया था. इसके लिए बीजेपी ने लोकसभा अध्यक्ष को भी लिखित में एक शिकायत दर्ज कराई है.

चुनाव आयोग पहुंची बीजेपी
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि उन्होंने चुनाव आयोग को नारायण राठवा के अनाधिकृत नामांकन के बारे में अवगत करा दिया है. उन्होंने बताया कि उनके दो नेता एमए नकवी और भूपेंद्र सिंह यादव ने चुनाव आयोग में अपनी शिकायत दर्ज कराई है.

4 सीटों पर 6 उम्मीदवार
गुजरात में राज्यसभा की चार सीटें हैं और मैदान में छह उम्मीदवार हैं. संख्याबल के आधार पर बीजेपी और कांग्रेस को दो-दो सीटें आसानी से मिल सकती हैं. बीजेपी ने पुरुषोत्तम रुपाला, मनसुख मंडाविया और पूर्व विधायक कृति सिंह राणा को मैदान में उतारा है. वहीं कांग्रेस ने अमि याग्निक और नारायण राठवा को उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस निर्दलीय उम्मीदवार पीके वलेरा को समर्थन देने की घोषणा की है. कांग्रेस और बीजेपी की इस रणनीति से साफ हो गया है कि यहां क्रास वोटिंग होगी. 23 मार्च को राज्यसभा की 58 सीटों के लिए चुनाव होने जा रहा है. 

पहले चारों सीटों पर भाजपा का था कब्जा
गुजरात में हुए विधानसभा चुनाव के बाद विधानसभा में गणितीय समीकरण बदल जाने के कारण भाजपा को अब राज्यसभा में दो सीटों का नुकसान उठाना पड़ेगा. राज्यसभा की खाली हो रही 58 सीटों के लिए 23 मार्च को देशभर में चुनाव होंगे. इन सीटों में चार सीटें गुजरात में हैं जो फिलहाल भाजपा के पास हैं. विधानसभा चुनाव में भाजपा की सीटें 2012 की 115 से घटकर 2017 में 99 रह गईं जबकि कांग्रेस की सीटें 60 से बढ़कर 77 हो गईं. इस कारण बीजेपी अब यहां से केवल दो उम्मीदवारों को राज्यसभा भेज सकती है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close